पुलवामा हमला: जम्मू में लागू हुआ कर्फ्यू, प्रशासन ने जनता से की अपील

जम्मू: कश्मीर घाटी में पुलवामा में हुए फियादीन हमले पर व्यापक प्रदर्शनों और हिंसा की छिटपुट वारदातों के बाद एहतियाती कदम के तौर पर जम्मू शहर में शुक्रवार को कर्फ्यू लगा दिया गया है. इस हमले में सीआरपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए हैं. अधिकारियों ने बताया है कि सेना ने कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बरक़रार रखने में प्रशासन की सहायता करने का अनुरोध किया और फ्लैग मार्च किया है.

सिंधु ने जीत के साथ किया सीनियर राष्‍ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता का आगाज

अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया है कि साम्प्रदायिक हिंसा की आशंकाओं के चलते शहर में कर्फ्यू लगाया गया है. लाउडस्पीकरों पर कर्फ्यू लागू होने का ऐलान होने के बाद भी प्रदर्शनकारी लौटे नहीं, खासतौर से पुराने जम्मू में. जम्मू के पुलिस उपायुक्त रमेश कुमार ने बताया है कि, "हमने एहतियाती कदम के तौर पर जम्मू शहर में कर्फ्यू लगा दिया है." 

आरबीआई ने चार गवर्नमेंट बैंकों पर ठोंका पांच करोड़ का जुर्माना

अधिकारियों के मुताबिक, जम्मू शहर पूरी तरह बंद है और सड़कों पर कोई गाडी नहीं है. तमाम दुकानें और बाजार भी बंद हैं. जम्मू शहर में ज्यूल चौक, पुरानी मंडी, रेहारी, शक्तिनगर, पक्का डंगा, जानीपुर, गांधीनगर और बक्शीनगर सहित दर्जनों क्षेत्रों पर लोगों ने पाकिस्तान के विरोध में सड़कों पर उतरकर जमकर प्रदर्शन किए. कुछ खबरों के अनुसार, गुज्जर नगर इलाके में हिंसक झड़पें भी हुई और पथराव के कारण कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. हालांकि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए बड़ी झड़प होने से रोक दी.

खबरें और भी:-

अजमेर में आयोजित सेवादल की बैठक में राहुल ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

260 पदों पर नौकरी, 12वीं पास को 2 लाख रु वेतन

आज भी बाजार के शुरुआती कारोबार में नजर आई गिरावट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -