कोरोना का कहर, 17 साल के निचले स्तर पर पहुंचे कच्चे तेल के दाम

कोरोना का कहर, 17 साल के निचले स्तर पर पहुंचे कच्चे तेल के दाम

वाशिंगटन: कोरोना के प्रकोप और रूस तथा सऊदी अरब के बीच चल रहे प्राइस वॉर के चलते क्रूड आयल 17 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है. भारत के लिए मायने रखने वाला ब्रेंट क्रूड ऑयल प्रति बैरल 23 डॉलर के दाम तक पहुंच गया है. बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. दुनिया के 199 देश कोरोना कि गिरफ्त में हैं. 

वर्ल्डोमीटर के अनुसार दुनिया भर में कुल 7,21,902 लोग कोरोना से संक्रमित हैं जबकि 33,965 लोगों की जान जा चुकी है. सबसे अधिक चिंताजनक है अमेरिका में इसका तेजी से फैलना. एक वरिष्ठ अमेरिकी वैज्ञानिक ने तो यहां तक चेतावनी दी है कि इससे अमेरिका में 1 से 2 लाख लोगों की जान जा सकती है. अमेरिका में 1.40 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं.

इस वायरस के प्रकोप की वजह से पूरी दुनिया के शेयर बाजार भी धराशायी हो गए हैं. अमेरिका का वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड 5.3 फीसदी की गिरवाट के साथ 20 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया है. इसी प्रकार भारत और अन्य अंतरराष्ट्रीय बाजार के लिए बेंचमार्क माने जाने वाला लंदन का ब्रेंट क्रूड 6.5 फीसदी लुढ़ककर 23 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया.

 कोरोना: RBI गवर्नर की अपील - नकद लेन-देन से बचें, डिजिटल ट्रांसक्शन करें

शेयर बाज़ार पर भी कोरोना का असर जारी, आज लाल निशान के साथ खुला सेंसेक्स

कंपनियों द्वारा दान किए गए फंड को माना जाएगा CSR मद में किया गया खर्च