फिरौती को लेकर गैंग के डाकू आपस में भिड़े, गोली लगने से सरगना की मौत

फिरौती को लेकर गैंग के डाकू आपस में भिड़े, गोली लगने से सरगना की मौत

चित्रकूटः मध्य प्रदेश के सतना जिले में डाकूओं की एक गैंग फिरौती में मिले रकम को लेकर आपस में ही भिड़ गए। दोनों ओर से चली गोलीयों में सरगना बबुली की मौत हो गई । यह वारदात सतना जिले के चमरी पहाड़ के जंगल में हुई। सरगना बबुली छह लाख का इनामी डाकू था। गैंगवार की खबर मिलने पर पुलिस अफसर जंगल पहुंचे। पुलिस के अनुसार, एमपी के सतना जिले के धारकुंडी थाने के चमरी पहाड़ के जंगल के पास शाम पांच बजे के आसपास बबुली गैंग के डाकू रकम बंटवारे को लेकर आपस में भिड़ गए। बबुली गैंग के लाले कोल ने फायरिंग शुरू कर दी, जिससे अन्य डाकू जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। फायरिंग के दौरान एक गोली सरगना बबुली को भी लगी।

लवलेश कोल आदि उसे घायल अवस्था में लेकर जंगल में गुम हो गए। फायरिंग में दो अन्य डाकुओं को भी गोली लगने की सूचना है। सूत्र का तो यहां तक कहना है कि गोलीबारी में सरगना की जान चली गई, मगर अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। सूत्रों का कहना है कि लाले कोल गोली चलाने के बाद राइफल लेकर भाग निकला।

बबुली कोल गैंग के डाकुओं के बीच गैंगवार की जानकारी पर रविवार देर शाम छह बजे रीवा आईजी चंचल शेखर, डीआईजी रीवा जोन अविनाश शर्मा, एसपी सतना रियाज इकबाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी कई थानों की फोर्स लेकर जंगल पहुंच गए। पुलिस को प्रतापपुर गांव के पास जंगल में एक स्थान पर काफी खून पड़ा मिला। आईजी रीवा चंचल शेखर ने बताया कि पुलिस को जल्द ही जंगल से कुछ अच्छी खबर मिल सकती है। चित्रकूट के पुलिस अधीक्षक मनोज झा ने बताया कि पुलिस टीम सतना भेजी गई है। मामले की छानबीन में पुलिस लगी हुई है।

भाभी ने देवर के 'मुर्गी और चूजे' के साथ किया ऐसा काम कि चली गई जान

गर्ल्स हॉस्टल में बेड के नीचे छिपा था लड़का और तभी...

ससुराल आकर दामाद ने खेला मौत का खेल, और फिर...