झारखण्ड: महागठबंधन में शामिल होना चाहती है CPI, मांगी हज़ारीबाग की सीट

झारखण्ड: महागठबंधन में शामिल होना चाहती है CPI, मांगी हज़ारीबाग की सीट

रांची: बिहार में महागठबंधन में वामदलों को अलग रखा जा रहा है. बिहार में वामदलों को स्थान नहीं मिला है. झारखंड में भी कुछ इसी तरह की ही स्थिति है. यहां भी वामदलों को महागठबंधन में जगह और सीट देने की बात सामने नहीं आई है. वहीं, सीपीआई ने कहा है कि उन्हें महागठबंधन में जगह दी जाए. अगर ऐसा नहीं हुआ तो एनडीए को हराना बेहद कठिन होगा.

मिशन लोकसभा: क्या भाजपा के पास प. बंगाल में नहीं है योग्य उम्मीदवार ?

हालांकि सीपीआई को महागठबंधन में सीट प्रदान करने की बात सामने नहीं आई है. किन्तु सीपीआई ने हजारीबाग लोकसभा सीट की मांग की है. पार्टी ने यहां तक कह दिया है कि अगर हजारीबाग लोकसभा सीट नहीं दी गई तो वे हजारीबाग के साथ अन्य सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे. इस मामले में सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव डी राजा ने शुक्रवार को झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमन्त सोरेन से दिल्ली में मुलाकात कर अपील की है कि भाकपा को झारखंड के महागठबंधन में शामिल करते हुए उसे हजारीबाग सीट दी जाए.

अपनी नाकामियों को बचाने के लिए जनता का ध्यान भटका रही भाजपा- मायावती

झामुमो की प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक हेमन्त सोरेन ने राजा से कहा है कि झामुमो भी चाहता है कि वाम दल झारखंड में महागठबंधन में शामिल हो. किन्तु वाम दल को कोडरमा लोकसभा सीट पर अपना दावा छोड़ना चाहिए. हेमन्त सोरेन ने साफ़ किया कि झामुमो सभी समान विचार वाले दलों को गठबंधन में जगह देकर भाजपा को शिकस्त देने के प्रति संकल्पित है.

खबरें और भी:- 

अनिल अम्बानी पर मंडराया जेल जाने का खतरा, ये है उसकी वजह

लोकसभा चुनाव: कांग्रेस का हाथ थाम सकती हैं आप की नाराज़ विधायक अलका लांबा

जो भारत के विकास के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है, वह चौकीदार है : पीएम मोदी