'ओमिक्रॉन' वेरिएंट सामान्य सर्दी-खांसी नहीं, है बहुत खतरनाक

देश में कोरोना के नए ‘ओमिक्रॉन’ वेरिएंट (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं और इन मामलों को देखते हुए सरकार भी तैयारी में लगी है और बार-बार चेतावनी दे रही है। आप सभी को बता दें कि कोरोना को लेकर केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकारें भी अलर्ट हो गई हैं और इन सबके बीच केंद्र सरकार ने ‘ओमिक्रॉन’ के खतरे को लेकर एक बार फिर चेताया है। जी दरअसल हाल ही में केंद्र सरकार ने कहा कि, 'वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट सामान्य सर्दी-खांसी नहीं है और इसे हल्के में नहीं ले सकते। लोगों को सतर्कता बरतने तथा टीका लगवाने की जरूरत हैं।'

इसी के साथ यह भी कहा गया है कि, 'लोगों को कोविड अनुकूल व्यवहार अपनाते रहना होगा।' इसके अलावा सरकार का कहना है कि, 'भारत में करीब 300 जिलों में कोरोना वायरस के लिए नमूनों की जांच में साप्ताहिक संक्रमण दर 5 प्रतिशत है। वहीं महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, तमिलनाडु, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, केरल और गुजरात चिंता वाले राज्यों के रूप में उभर रहे हैं।' हां ही में स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, 'भारत में कोविड-19 संक्रमण मे तेजी से इजाफा देखा गया है और नमूनों की जांच में संक्रमण की दर 30 दिसंबर को 1.1 प्रतिशत से बढ़कर बुधवार को 11.05 प्रतिशत हो गयी।'

आगे उन्होंने कहा कि, 'दुनियाभर में कोविड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और पूरी दुनिया में एक दिन में अब तक के सर्वाधिक मामले 10 जनवरी को आये जिनकी संख्या 31.59 लाख थी। अधिकारी ने कहा कि इस समय भारत में 300 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर 5 प्रतिशत से अधिक है।' इसी के साथ उन्होंने यह भी बताया कि, 'देश के 19 राज्यों में इस समय कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 10,000 से अधिक है और महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, तमिलनाडु, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, केरल और गुजरात कोविड के मामलों में वृद्धि की वजह से चिंता वाले राज्यों के रूप में उभर रहे हैं।' इस दौरान टीकाकरण के महत्व पर जोर देते हुए अधिकारी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के हवाले से कहा कि टीके का प्रभाव अस्पतालों में रोगियों के भर्ती होने के मामले में महत्वपूर्ण नजर आता है।

इस राज्य में 31 जनवरी तक लगा फुल लॉकडाउन, पूजा स्थलों पर सख्त पाबंदी

दिल्ली पुलिस पर कोरोना का कहर, अब तक 1700 कर्मी हुए संक्रमित

सीएम बिप्लब देब का कहना है कि त्रिपुरा COVID-19 की तीसरी लहर से लड़ने के लिए तैयार है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -