एम्स निदेशक का बड़ा बयान, कहा- "कोविड की तीसरी लहर लोगों के व्यवहार..."

नई दिल्ली: कोविड की दूसरी लहर के केस कम होने के बीच तीसरी लहर का भी अनुमान लगाया जा चुका है। दिल्ली स्थित AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर अभी समाप्त नहीं हुई है और तीसरी लहर लोगों द्वारा कोरोना वायरस के उचित व्यवहार पर निर्भर करने वाली है। हिन्दुस्तान की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में 'आजादी का अमृत महोत्सव' पहल के अंतर्गत सीआइएसएफ द्वारा आयोजित ब्लड डोनेशन शिविर के उद्घाटन समारोह में डॉ गुलेरिया ने बोला कि जब लोग कोरोना वायरस उचित व्यवहार का पालन करेंगे तो तीसरी लहर के केस कम देखने को  मिल रहे है। मीडिया से बात करते हुए गुलेरिया ने कहा कि लोगों को यह समझना चाहिए कि भारत में अभी कोविड महामरी की दूसरी लहर अभी समाप्त नहीं हुई है। कोविड के दौनिक केसों का आंकड़ा 40,000 से अधिक मिल रहे हैं। सभी लोगों को कोविड के नियमों का पालन करना अहम् है। यदि नियमों का पालन किया जाता है तो देश में कोरोना की एक और लहर को आने से पहले ही रोका जा सकता है।

कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर इस वर्ष अप्रैल से शुरू हुई थी, जिसमें कोविड-19 के केस 4 लाख के पार जा चुकें। हालांकि, मई में लहर के केस कम होने लगे। तो वहीं कुछ विशेषज्ञों ने अगस्त-सितंबर के उपरांत तीसरी लहर की चेतावनी दी थी। कानपुर और हैदराबाद के IIT ने भी अगस्त के मध्य में एक और प्रकोप या कोरोना वायरस की तीसरी लहर की भविष्यवाणी की थी, यह कहते हुए कि यह वायरस के प्रकार के आधार पर अक्टूबर में चरम पर हो सकता है।

चीन के वुहान शहर में पहली बार 2019 में कोविड का पता चला था और तब से यह वायरस पूरे विश्व में फैलता जा रहा हैं। WHO को रिपोर्ट की गई 4,323,139 मौतों सहित संक्रमण के 204,644,849 पुष्ट केस सामने आए हैं।

हाई अलर्ट पर दिल्ली, 15 अगस्त को लेकर बढ़ाई गई सुरक्षा

'पहले अफसरों के पैरों में गिरना पड़ता था, पर अब नहीं..', मोदी की नीतियों के मुरीद हुए SII अध्यक्ष

4 साल की उम्र में ही सुनिधि चौहान ने शुरू कर दिया गाना, 18 साल की उम्र में रचा ली थी शादी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -