कोरोना के नए वेरिएंट 'Omicron' से बढ़ा खतरा! स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को लिखा पत्र, दिए ये सख्त निर्देश

नई दिल्ली: एक बार फिर से कोरोना संक्रमण का प्रकोप बढ़ने लगा है। यूरोप के कई देशों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हैं। सख्त प्रतिबंध हैं, होटल्स बंद हैं, बाजार सूने पड़े हैं, क्रिसमस के उत्साह पर लॉकडाउन के बादल मंडरा रहे हैं। एक​ रिपोर्ट के अनुसार, यूरोपीय देशों में कोरोना वायरस के मामलों में हुए तेज इजाफे को रोकने के लिए कहीं पाबंदी सख्त की गई हैं तो कहीं लॉकडाउन लागू है। ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में बार बंद हैं, वहीं दूसरी ओर जर्मनी के म्यूनिख शहर में क्रिसमस बाजार सूने पड़े हैं। इस बीच ब्रिटेन की राजधानी लंदन में स्थिति अपेक्षाकृत बहुत बेहतर हैं। यूरोप में बढ़ती पाबंदियों के बीच भारत में भी लोग कोरोना की अगली लहर की आशंका से परेशान हैं। 

वही कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के दक्षिण अफ्रीका में मिलने तथा उसके पश्चात् इसके मामले अन्य देशों में पाए जाने के पश्चात् विश्वभर में हंगामा मचा हुआ है। इधर, सरकार की ओर से इस बारे में निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने नए वेरिएंट 'Omicron' को लेकर सभी प्रदेशों को चिट्ठी लिखते हुए उन सभी से गहन रोकथाम करने, निगरानी के उपाय बढ़ाने तथा कोरोना टीकाकरण तेज करने के निर्देश दिए गए हैं।

हालांकि संक्रमण के चलते ऐसा पहली बार नहीं है जब ब्रिटेन में स्थिति पड़ोसी देशों से अलग हों, लेकिन  इस बार लोग पहले की भांति घबराए हुए नहीं नजर आ रहे हैं। ब्रिटेन में अब तक तीन बार राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया जा चुका है तथा यूरोप में कोरोना से रूस के पश्चात् ब्रिटेन में ही सबसे ज्यादा लगभग 1,45,000 व्यक्तियों की मौत हुई है। दूसरी तरफ नीदरलैंड, बेल्जियम, जर्मनी, ऑस्ट्रिया तथा चेक गणराज्य सहित कई देशों में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के चलते हॉस्पिटलों को संघर्ष करते देखा जा रहा है। मामलों में इजाफे के  कारण इन देशों में लॉकडाउन और प्रतिबंध लागू किए गए हैं।

'यूनिकॉर्न की दुनिया में भी भारत तेज उड़ान भर रहा है', मन की बात में बोले PM मोदी

प्लेटफॉर्म पर मरीज को लेने आई एम्बुलेंस को ट्रैन में मारी टक्कर

एक गलती और रद्द हो गई UPTET की परीक्षा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -