WHO का बड़ा बयान, कहा- "मई 2021 तक कोविड ने ली इतने स्वास्थकर्मियों की जान..."

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक बयान में कहा कि कोरोनावायरस महामारी ने जनवरी 2020 से इस साल मई तक अनुमानित 80,000 से 180,000 स्वास्थ्य कर्मियों की जान ले ली है। अनुमान मई 2021 तक WHO को बताई गई 3.45 मिलियन कोविड -19 संबंधित मौतों के आधार पर एक नए WHO वर्किंग पेपर से लिया गया है।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेबियस, डब्ल्यूएचओ साप्ताहिक कोविड -19 ब्रीफिंग ने गुरुवार को कहा: "हर स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ़ उसका कार्यबल है। कोविड-19 इस बात का एक शक्तिशाली प्रदर्शन है कि हम इन पुरुषों और महिलाओं पर कितना भरोसा करते हैं, और हम सभी कितने असुरक्षित हैं जब हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करने वाले लोग स्वयं असुरक्षित हैं।" वर्किंग पेपर में 119 देशों के उपलब्ध आंकड़े बताते हैं कि सितंबर 2021 तक, पांच में से दो स्वास्थ्य कर्मियों को औसतन पूरी तरह से टीकाकरण किया गया था, जिसमें क्षेत्रों और आर्थिक समूहों में काफी अंतर था। अफ्रीकी और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्रों में 10 में से एक को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, जबकि 22 ज्यादातर उच्च आय वाले देशों ने बताया कि उनके 80 प्रतिशत से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है। कुछ बड़े उच्च आय वाले देशों ने अभी तक डब्ल्यूएचओ को डेटा की सूचना नहीं दी है।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने उल्लेख किया कि पहले टीकों को मंजूरी दिए 10 महीने से अधिक समय से, "तथ्य यह है कि लाखों स्वास्थ्य कर्मचारियों को अभी भी टीका नहीं लगाया गया है, यह उन देशों और कंपनियों पर अभियोग है जो टीकों की वैश्विक आपूर्ति को नियंत्रित करते हैं"। इसके अलावा, टेड्रोस ने कहा कि कोविद -19 महामारी 2022 तक खींचेगी, जो जरूरत से ज्यादा लंबी होगी, क्योंकि कई गरीब देशों को घातक संक्रामक बीमारी के खिलाफ टीके नहीं मिले हैं।

यूपी चुनाव में क्या होगी रणनीति ? सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस की बड़ी बैठक कल

यूएस सीडीसी ने मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन मिक्स-मैच डोज का किया समर्थन

सीएम योगी ने प्रियंका और राहुल पर साथ निशाना, कहा- "कांग्रेस के शासन में कोविड होता तो इटली भाग जाते.... "

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -