31 जनवरी तक बढ़ी कोविड-19 गाइडलाइंस, केंद्र ने Omicron को लेकर राज्यों को किया अलर्ट

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के नए और तेजी से फैल रहे वेरिएंट Omicron के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने कोविड-19 गाइडलाइन्स की अवधि को 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया है. कई राज्यों में Omicron वेरिएंट के केस तेजी से बढ़ने लगे हैं. जिसको देखते हुए सभी राज्य सरकारें अलर्ट हो गई हैं और अपने-अपने स्तर पर एहतियाती उपाय कर रही हैं. पूरे देश से ओमिक्रॉन के अब तक 578 के करीब केस दर्ज किए जा चुके हैं. मामलों पर नियंत्रण पाने के लिए कई राज्य सरकारों द्वारा नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया गया है.

Omicron संक्रमण के सबसे ज्यादा केस आठ राज्‍यों से सामने आए हैं, जिनमें- दिल्‍ली, महाराष्ट्र, केरल ,गुजरात, राजस्‍थान, तेलांगना, तम‍िलनाडू, कर्नाटक का नाम शाम‍िल हैं. इन राज्‍यों में देश में कुल Omicron संक्रम‍ित लोगों की तुलना में अकेले 94 फीसदी केस दर्ज किए गए हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, देश के 17 राज्‍यों में Omicron फैल चुका हैं. उसमें से आठ राज्‍य कोरोना के Omicron वैर‍िएंट के ल‍िए हॉट स्‍पॉट बनते जा रहे हैं, किन्तु इन आठ राज्‍यों में शामि‍ल दिल्‍ली और महाराष्ट्र Omicron वैर‍िएंट के लि‍ए सर्वाधिक संवेदनशील बन चुके हैं.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि सोमवार सुबह तक देश में Omicron संक्रमण के 578 केस दर्ज किए जा चुके हैं. हालांकि Omicron वेरिएंट के सक्रीय मामलों की तादाद घटकर 427 हो गई है. ज‍िसमें से सबसे अधिक 119 सक्र‍िय मरीज सोमवार सुबह द‍िल्‍ली से रिपोर्ट क‍िए गए हैं. उसके बाद महाराष्ट्र में 99, केरल में 56, गुजरात में 39, तम‍िलनाडू में 34, राजस्‍थान में 13, तेलांगना में 31 और कर्नाटक में 16 एक्टिव केस दर्ज क‍िए गए.

जनवरी में शुरू होगी नीट यूजी, पीजी काउंसलिंग

तमाम कोशिशों के बाद भी पाकिस्तान हमारी 1 इंच जमीन नहीं ले सकता - गुलाम नबी आज़ाद

म्यांमार के कायाह में बच्चों और महिलाओं सहित 30 से अधिक की मौत, शव जलाए गए

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -