शादी के लिए नहीं मान रहे थे घरवाले, प्रेमी युगल ने लगाई फांसी

Apr 06 2020 04:20 PM
शादी के लिए नहीं मान रहे थे घरवाले, प्रेमी युगल ने लगाई फांसी

हाल ही में जो अपराध का मामला सामने आया है वह फतेहपुर का है. जहाँ बीते रविवार को परिजनों के विरोध के चलते दुःखी प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी है. इस मामले के सामने आने के बाद से गांव में हड़कंप मच गया ओर दोनों परिवार शोक में डूब चुके हैं. वहीं सूचना मिलने के बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने पेड़ से दोनों शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. अब पुलिस ने इस मामले की जांच आरम्भ कर दी है. खबर है कि मलवां थाना क्षेत्र के तारापुर असवार गांव में परिजनों के विरोध और शादी के इंकार से प्रेमी युगल दुःखी थी.

इसी दुःख में डूबकर दोनों ने आत्महत्या करने के बारे में सोचा ओर उसके बाद दोनों ने सुबह जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. खबर है कि मृतक प्रेमी के मामा मोती सिंह ने इस मामले के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि, ''मेरा भांजा इन्द्रसिंह पुत्र सोहराज सिंह असोथर थाना के लखनहा गांव का निवासी है. वह मेरे घर में रहकर आटीआई की पढ़ाई करता था. मेरे गांव के शेरा सिंह की पुत्री कु. पूजा सिंह से उसे प्यार हो गया. लोगों ने बताया कि वह दोनों अक्सर मिलते थे. और शादी करना चाहते थे.

लेकिन हम लोगों से उन दोनों ने कभी अपनी शादी की मंशा नहीं बताई. हम लोग सिर्फ मिलने जुलने की गलत बताते हुए यह करने को मना किया था. यदि दोनों शादी की बात बताते तो एक ही विरादरी के कारण हमें कोई इतराज नहीं होता. लेकिन लोकलाज के चलते ही हम लोगों ने मना किया था. यदि यह मालूम होता कि दोनों इस हद तक जा सकते तो शादी कर देते. अफसोस की बात यह कि दोनों ने अपनी बात खुलकर परिजनों से नहीं बताई और आज इतना बड़ा कदम उठा लिया है.'' इस मामले में पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच चल रही है.

कोरोना को भगाने के लिए भाजपा पार्टी की जिला अध्यक्ष ने की फायरिंग

कोरोना भगाने के लिए युवक ने की तंत्र पूजा, दी माँ की बलि

तब्लीग़ी जमात के खिलाफ बोलने पर युवक की गोली मारकर हत्या