+

नागरिकता बिल का बढ़ा विरोध, कॉटन यूनिवर्सिटी संघ परिसर के छात्रों ने दिया धरना

नागरिकता बिल का बढ़ा विरोध, कॉटन यूनिवर्सिटी संघ परिसर के छात्रों ने दिया धरना

गुहावटी: हाल ही में कॉटन यूनिवर्सिटी के छात्र संघ और पूर्व छात्र संघ  ने कैंपस में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन करने वाले सत्ताधारी बीजेपी,आरएसस और अन्य संगठन के सदस्यों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया. रविवार को, डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों ने घोषणा की कि वह विवादास्पद बिल के विरोध में मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल सहित किसी भी सदस्य को कैंपस में प्रवेश नहीं दिया जाएगा 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कॉटन यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के महासचिव राहुल बोरदोलोई ने एक संयुक्त प्रेस मीट में सभी उत्तरी और अन्य राज्यों के एमएलए और विवादास्पद बिल के खिलाफ एक स्टैंड लेने की अपील की. वहीं  बैठक में छात्रों के संगठन और पूर्व छात्र संघ ने  सत्तारूढ़ बीजेपी ,आरएसस और उनके द्वारा पेश किए गए बिल का समर्थन करने वाले किसी भी अन्य संगठन के सदस्यों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया.

जंहा बोरदोलोई, ने कहा कि छात्र संघ कैब (नागरिकता कानून ) का विरोध करता है और वह 5 दिसंबर को इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगा. संसद से बिल को वापस लेने की मांग करते हुए राज्य की राजधानी में विरोध मार्च और इसके प्रतिनिधियों ने कुछ असाम एमएलए से मुलाकात कर बिल के खिलाफ उनके संघर्ष में समर्थन की मांग की. रविवार को, डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के सैकड़ों छात्रों ने बिल के खिलाफ कैंपस में एक विरोध मार्च निकाला, जिसमें कहा गया कि इससे भविष्य में असामाजिक समुदाय को नुकसान होगा.

दूसरी औरत से हैं पति के नाज़ायज़ सम्बन्ध, इसलिए पत्नी को दे दिया तीन तलाक

सिंगर गा रही थी 'ओए गोरिये, गोली चल जाएगी' तभी चली गोली और उड़ गया जबड़ा

तीन बच्चों संग माँ ने लगाई आग, सास-ससुर को बताया वजह