आदेश को लगते थे 12 लाख के इंजेक्शन

आदेश को डेढ़ महीने मे तीन बार कैंसर हो गया था। हॉस्पिटल के चिकित्सक ने उन्हे बचाने की पूरी कोशिश की थी पर आदेश ने ज़िंदगी से हार मान ली और सबको छोड़कर चले गए। आदेश को इंजेक्शन लगाए जाते थे वे इंजेक्शन विदेश से मँगवाते थे उनका एक इंजेक्शन ही 12 लाख का आता था। आदेश का परिवार भी बहुत बुरी हालत मे था। आदेश की पत्नी के भाई ने कहा कि हमने कभी किसी से कोई पैसा नहीं लिया है। सब कुछ खुद से ही किया है।

आदेश के कैंसर के बारे मे उनके साथ काम करने वालों को पता चला तो उन्होने आदेश को नजर अंदाज करना शुरू कर दिया। आदेश को उस समय जिन लोगो की बहुत जरूरत थी तब लोगो ने उनका साथ छोड़ दिया था। आदेश ने एक इंटरव्यू मे ये बात कही थी कि उन्हे उनकी बीमारी से ज्यादा इस बात की तकलीफ थी कि उनके साथ काम करने वालों ने उन्हे नहीं समझा और उन्हे अकेला छोड़ दिया।

आदेश जब विदेश से अपना इलाज करा के वापस भारत आए थे तब ठीक थे लेकिन कुछ दिनो के बाद उनकी नाक से खून आने लग गया था जिससे उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी। अभी दो दिन पहले तो हॉस्पिटल मे चिकित्सक ने कीमोथेरेपी भी बंद कर दी थी। आदेश ने अपने इंटरव्यू मे बताया था कि रामदेव के योग ने उन्हे बहुत आराम दिया था। जब आदेश की तबीयत खराब थी तब उन्हे ऐसा लगता था जैसे उनके पैरो मे कोई सुई चुभो रहा है। आदेश के सिर के बाल भी गिर गये थे। आदेश अपनी ऐसी हालत को लेकर बहुत परेशान थे। फिर उन्होने रामदेव बाबा का योग देखा और किया जिससे उन्हे शांति मिली।

आदेश ने अपनी सेहत को ठीक करने के लिए अपने रोज के काम भी बदल दिये थे वे सुबह उठकर योगा करते थे उन्होने सिगरेट और शराब पीना भी बंद कर दिया था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -