शराब के नाम पर कर रहे अवैध वसूली

पटना : बिहार राज्य में शराबबंदी को लेकर भ्रष्टाचार की बात सामने आई है। दरअसल यहां पर शराब कारोबारियों को उत्पाद विभाग के कर्मचारी शराबबंदी का डर बता रहे हैं। ऐसे में वे शराब कारोबारियों से जबरन की वसूली कर रहे हैं। दरअसल राज्य में कार में शराब रखकर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी उत्पाद विभाग के कर्मचारी कई बार देते चुके हैं। ऐसे में लोग और कारोबारी परेशान हैं। इन लोगों को इस तरह के मामले में फंसाने का डर बताकर इनसे वसूली कर ली जाती है।

ऐसे मामले में करीब 10 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में जानकारी मिली है कि कैमूर और बक्सर जिले में वाहनों की जांच के दौरान उत्पाद विभाग के अधिकारी और कर्मचारी ऐसे कारनामे करते हैं। उत्पाद विभाग के अधिकारियों ने चेकपोस्ट पर वाहन जांचने के फेर में इसी तरह से एक व्यक्ति को फंसाया। दरअसल इस व्यक्ति की कार में शराब की बोतल रख दी गई फिर इस व्यक्ति से रूपयों की मांग की गई। सौदा 1 लाख 25 हजार में तय हो गया।

इस मामले में सब इंस्पेक्टर चंद्रदेव प्रसाद, आदित्य कुमार, संजय कुमार पासवान, जमादार अरूण कुमार, सिपाही गौरी शंकर दास, सुंनील कुमार और वाहन चालक सुनील कुमार गप्ता पर कार्रवाई की गई। दूसरी ओर सरकार ने ट्रेन में शराब के अवैध तरीके से परिवहन को रोकने का प्रयास किया है। सरकार का ध्यान बंगाल और झारंखड की ओर आवाजाही करने वाली ट्रेनों पर है। इन ट्रेनों को लेकर सरकार ने अलर्ट जारी कर दिए हैं। स्टेशनों पर ट्रेन के कोच में जांच की जाती है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -