कोरोना की दूसरी लहर के चपेट में आ रहे है बच्चे, कही आपका लाल भी तो नहीं हो गया शिकार

Apr 07 2021 04:50 PM
कोरोना की दूसरी लहर के चपेट में आ रहे है बच्चे, कही आपका लाल भी तो नहीं हो गया शिकार

कोरोना महामारी ने देश ही नहीं पूरी दुनिया में आतंक मचा रखा है वही देश में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच कई हैरान करने वाले आंकड़े सामने आ रहे हैं। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि इस बार बड़ी संख्या में बच्चे भी कोरोना के शिकार हो रहे हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, कुछ प्रदेशों में बच्चों में कोरोना का संक्रमण भी बड़ी रफ़्तार से फैल रहा है। देश के ग्यारह ऐसे प्रदेश जहां कोरोना का संक्रमण सबसे ज्यादा पाया गया है, वहां के बच्चों में भी संक्रमण की दर बहुत ज्यादा है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ो के मुताबिक, महाराष्ट्र में पांच वर्ष के बच्चे एक मार्च से चार अप्रैल 2021 तक 9882, छह वर्ष से दस वर्ष की आयु के 14660 तथा ग्यारह वर्ष से सत्रह वर्ष के किशोर में 36142 मामले पाए गए। कुल मिलाकर अगर बच्चों की बात करें तो 60684 मामले सिर्फ महाराष्ट्र में संक्रमित बच्चें हैं। बच्चों में संक्रमण के केस में पांच वर्ष तक की आयु की बात करें तो 922, छह से दस वर्ष तक 1374 और ग्यारह से सत्रह वर्ष के बीच 3644 मामले पाए गए हैं। 1 मार्च से चार अप्रैल 2021 के मध्य छत्तीसगढ़ में कुल 5940 बच्चों में कोरोना संक्रमण पाया गया है।

वही 1 मार्च से 4 अप्रैल 2021 तक के आंकड़ों का दिल्ली में दृष्टि डालें तो पाते हैं कि 5 साल की उम्र तक के बच्चों में 441, छह से दस साल की आयु में 662, ग्यारह वर्ष से सत्रह साल की उम्र में 1630 और कुल अगर मामले की बात करें तो 2733 मामले पाए गए हैं। बच्चों में संक्रमण के केसों में यूपी का भी नाम है। जहां पांच वर्ष तक के बच्चों में 471, छह वर्ष से दस साल के बच्चों में 671 और ग्यारह से सत्रह वर्ष के बीच 1862 केस सामने आए हैं। अगर कुल संक्रमण की बात करें तो 3004 बीते माह एक मार्च से इस महीने चार अप्रैल के बीच है।

प्रधानमंत्री मोदी इस दिन करेंगे ‘उत्कल केसरी’ किताब का विमोचन, ‘ओडिशा इतिहास’ का है हिंदी अनुवाद

मायावती ने कहा- चुनावी रैलियों में हो रहा कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन

इस राज्य में बंद हुए बार और शराब के ठेके, कई चीजों पर लगा प्रतिबंध