इस देश की सरकार ने महिलाओं को दिया घर पर सजने-संवरने का आदेश

इस देश की सरकार ने महिलाओं को दिया घर पर सजने-संवरने का आदेश

हर देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ते जा रहा है. इस वायरस से हर देश परेशान हो रहा है. इसके संकट को कम करने के लिए हर देश अपने ओर से कोई न कोई जरूरी कदम उठा रहा है. इसी बीच कोरोना वायरस को लेकर मलयेशिया की सरकार ने अजीबोगरीब सलाह दी है. मलयेशिया के महिला और परिवार कल्याण मंत्रालय ने लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए घर से काम कर रहीं महिलाओं को शांति बनाए रखने की सलाह दी है. इसके साथ ही सरकार ने एक पोस्टर जारी करते हुए ये कहा है कि महिलाओं को घर पर भी हमेशा की तरह सजने-संवरने के साथ अच्छे कपड़े पहनने चाहिए. हालांकि सरकार के इस सलाह की अब चौतरफा आलोचना भी हो रही है. इस सलाह का महिलाओं ने विरोध भी किया है. 

मलयेशिया सरकार ने लॉकडाउन को ध्यान में रखकर सोशल मीडिया पर लिखा है कि महिलाओं के लिए इतनी लंबी छुट्टियां और घर से काम करना मुश्किल हो सकता है क्योंकि अक्सर उनका ध्यान भटक जाता है. अगर उनके पार्टनर से घर के काम में कोई गलती हो जाती है तो उसे ज्यादा तूल ना दें. जब सरकार के इस सलाह की आलोचना होने लगी तो उसने पोस्टर को हटा लिया. मंत्रालय ने एक पोस्टर के जरिए सोफे पर आराम करते हुए एक शख्स की तस्वीर के साथ लिखा था कि अगर आप अपने पार्टनर को कुछ गलत करते हुए देखती हैं तो नजअंदाज करें. शिकायत ना कर आप उनसे मजाकिया अंदाज का इस्तेमाल करते हुए कार्टून की आवाज में बोल सकती हैं.

वहीं, कुछ पोस्टर में महिलाओं से कहा गया कि वे अपने पतियों से घर के काम में मदद मांगते वक्त तंज वाले लहजे का इस्तेमाल ना करें. यदि आपको गुस्सा आए तो 20 तक उल्टी गिनती गिने और समझदारी से काम लेते हुए शांत रहें. मंत्रालय के द्वारा जारी इस एडवाइजरी की महिला संगठनों ने खूब आलोचना की है. 'ऑल वुमेन्स ऐक्शन सोसाइटी' ने कहा कि मेक-अप करने और अच्छा दिखने के अलावा महिलाओं के पास और भी बहुत काम होते हैं. महिलाएं भी इंसान हैं, कोई सामान नहीं.  

1900 साल पहले इस शहर में इंसान से लेकर जानवर तक बन गए थे पत्थर

दुनिया का एक ऐसा शहर, जहां पर मोबाइल, टीवी और रेडियो हैं प्रतिबंधित

गरीब का सपना हुआ साकार, इस देश ने दिया आलीशान होटल में रहने का मौका