लॉकडाउन की वजह से परेशान हुए किसान, नहीं मिल रहे मजदूर

पूरे देश में कोरोना वाययरस के चलते लॉकडाउन लागू है. इसकी वजह से किसानों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस वक्त खेतो में खड़ी गेहूं की फसल पक चुकी है लेकिन कटाई के लिए किसानों को मजदूर मिलने में परेशानी हो रही है. वहीं मध्यप्रदेश के किसान भी इस परेशानी से जूझ रहे हैं. छतरपुर के किसानों का कहना है कि उन्हें नुकसान हो रहा है क्योंकि कोविड-19  लॉकडाउन के बीच मजदूरों की कमी के चलते वे अपनी फसल नहीं काट पा रहे हैं.

इस पर किसान कालीबंधु का कहना है कि फसल काटने के लिए कोई मजदूर नहीं मिल रहा है. फसलों की कटाई के लिए मशीनें भी बहुत महंगी हैं, हम उन्हें खरीद नहीं सकते. हम बहुत चिंतित हैं क्योंकि हमारे पास बेचने और कमाने के लिए कुछ भी नहीं होगा अगर लॉकडाउन जारी रहा.

जानकारी  के लिए बता दें की मध्यप्रदेश में बुधवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 385 तक पहुंच गई. इंदौर, भोपाल और उज्जैन को पूरी तरह से सील कर दिया गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इन तीनों शहरों में कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं. इसलिए इन्हें पूरी तरह से बंद किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन से इन जगहों पर जरुरी सामानों की सप्लाई की सुविधा मुहैया करवाने के भी निर्देश दिए हैं.

इंदौर की इस कॉलोनी में मुंबई-पुणे से आए हुए 150 लोग, अब तक नहीं हुई किसी की जाँच

कोरोना से बचाने के लिए भोपाल के वन विहार में पशुओं की निगरानी हुई शुरू

इंदौर : नहीं किया कोई कोरोना मरीज का इलाज, फिर भी डॉक्‍टर ने संक्रमण से गवाई जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -