भारत के इस राज्य में पालतू जानवरों को छोड़ने पर लिया जाएगा एक्शन

पूरी दुनिया में कोरोना ने अपने पैर पसार लिए है. इस स्थिति में लोग जैसे ही किसी चीज से वायरस फैलने के अफवाह के बारे में सुन रहे हैं तो लोग उससे फौरन दूरी बना रहे है. इस संकट के दौर में अबतक कई तरह के अफवाह फैली हैं. ऐसे में असम सरकार ने एक आदेश जारी किया है. असम में अगर कोई कोरोना वायरस के डर से पालतू जानवरों को छोड़ता है तो उन्हें कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है. असम पुलिस ने जिला पुलिस प्रमुखों को आदेश जारी करते हुए यह कहा है सुनिश्चित किया जाए कि कोरोना वायरस की आशंका पर लोगों के अपने पालतू जानवर छोड़ने पर कानूनी कार्रवाई की जा सके. असम में कई दुकनदारों ने पालतू जानवरों से दूरी बनाए रखने के लिए उन्हें अपने दुकानों में ही बंद कर दिया है.

बता दें की असम राज्य पुलिस मुख्यालय ने पालतू जानवरों को छोड़ने वाले लोगों को लेकर गुवाहाटी शहर के पुलिस आयुक्त और सभी पुलिस अधीक्षकों को आदेश जारी करते हुए कहा है कि पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पेटा) इंडिया के जरिए कार्रवाई करें. असम पुलिस के इस आदेश पर पेटा इंडिया इमरजेंसी रिस्पांस टीम के एसोसिएट मैनेजर मीत अंसारी ने कहा है कि अधिकारियों को ऐसा निर्देश देने के लिए असम पुलिस को धन्यवाद देते हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि जो लोग कोरोना वायरस के संकट के दौरान जानवरों के साथ ठीक व्यवहार नहीं करते हैं, उनपर कानूनी रूप से कड़ी कार्रवाई हो.

दरअसल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच कई तरह के अफवाहें भी फैल रही हैं. ऐसे में अफवाह ये भी फैल रही है कि पालतू जानवरों के संपर्क में आने से कोरोना वायरस का संक्रमण हो सकता है. लेकिन अभी तक इस बात का किसी भी देश के विशेषज्ञों ने दावा नहीं किया है. ऐसे में पालतू जानवरों से किसी को कोई खतरा नहीं है. 

जब इस बच्चे ने की ट्रम्प की मिमिक्री, तो लोगों की नहीं रुक पाई हंसी

लॉकडाउन के बाद खुले शोरूम, तो ‘लेदर प्रोडक्ट्स’ को हो गई ऐसी हालत

इस क्षेत्र में खतरों से खाली नहीं है विमानों को उड़ाना, जानें क्या है वजह

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -