उत्तराखंड में एक ही दिन में मिले 208 कोरोना पॉजिटिव

May 30 2020 07:21 PM
उत्तराखंड में एक ही दिन में मिले 208 कोरोना पॉजिटिव

उत्तराखंड में शुक्रवार को एक दिन में कोरोना संक्रमित मरीजों का रिकॉर्ड टूट गया है। शुक्रवार को देहरादून समेत 11 जिलों में 208 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इन्हें मिलाकर प्रदेश में संक्रमितों का आंकड़ा 716 पहुंच गया है। देहरादून के कुछ संक्रमित मरीजों को छोड़ कर बाकी मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री है। जो दूसरे राज्यों से लौटे हैं।शुक्रवार को प्रदेश में एक दिन में 208 संक्रमित मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार सैंपलों की जांच रिपोर्ट में 1080 नेगेटिव मिले हैं। जबकि 208 संक्रमित पाए गए। नैनीताल जिले में 85 संक्रमित मरीज मिले हैं। इसमें 80 लोग गुरुग्राम और दिल्ली से ट्रेन से आए थे। 

अन्य पांच संक्रमित मरीज दिल्ली और उत्तर प्रदेश के रामपुर से आए हैं।देहरादून जिले में 64 संक्रमित मरीज मिले हैं। इनमें क्वारंटीन किए गए 48 लोगों में संक्रमण मिला है। जबकि दो मरीज एम्स ऋषिकेश में भर्ती हैं। एक सब्जी मंडी के आढ़ती का कर्मचारी, 13 संक्रमित मरीज पहले से कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आए हैं। अल्मोड़ा जिले में 21 संक्रमित मरीज मिले हैं। इनमें 15 मुंबई, एक गुरुग्राम और एक दिल्ली से आया है। चार संक्रमितों की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। बागेश्वर जिले में आठ मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें पांच मुंबई और तीन दिल्ली से लौटे हैं।हरिद्वार जिले में मुंबई से आए पांच लोगों में कोरोना संक्रमण मिला है। टिहरी जिले में भी मुंबई से आए आठ लोग संक्रमित पाए गए। पौड़ी जिले में तीन संक्रमित मरीज मुंबई और एक गुरुग्राम से आया है। एक मरीज की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की रुद्रप्रयाग जिले में दो संक्रमित मरीज दिल्ली से आए थे। ऊधमसिंह नगर जिले में मुंबई से आए चार और पुणे से आए एक व्यक्ति में संक्रमण मिला है। उत्तरकाशी में चार संक्रमित मरीजों में दो दिल्ली, एक मुरादाबाद और एक मुंबई से आया है। पिथौरागढ़ जिले में संक्रमित पाया गया मरीज दिल्ली से आया है।अपर सचिव युगल किशोर पंत ने बताया कि  पूरे प्रदेश से 1439 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। शुक्रवार को देहरादून से तीन, ऊधमसिंह नगर से आठ, नैनीताल जिले से 10 और पौड़ी से दो संक्रमितों को इलाज के बाद ठीक होने पर घर भेजा गया है। इन्हें मिलाकर प्रदेश में 102 मरीज ठीक हो चुके हैं।

इस खूबसूरत देश में कोरोना से नहीं हुई एक भी मौत, चीन से लगती है बॉर्डर

जीएसटी काउंसिल की बैठक पर टिकी है व्यापार वर्ग की निगाहे

कबीर सिंह देखकर फर्जी डॉक्टर बना लड़का और किया यह गंदा काम