महिला को कोरोना है सुन घरो में दुबके ग्रामीण

Apr 01 2020 06:49 PM
महिला को कोरोना है सुन घरो में दुबके ग्रामीण

रुड़की के नारसन क्षेत्र के एक गांव में अफवाह फैल गई कि एक महिला कोरोना वायरस की चपेट में है।इसके साथ ही जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। वहीं सिविल अस्पताल की टीम महिला को लेने के लिए गांव में पहुंच गई। गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखकर लोग घर में बंद हो गए। इसके साथ ही किसी तरह से टीम ने महिला को एंबुलेंस में बैठाया और उसको सिविल अस्पताल में लेकर पहुंची। वहीं सिविल अस्पताल में चिकित्सकों ने महिला की बारीकी से जांच पड़ताल की, लेकिन महिला के अंदर कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले| हालांकि उसकी खराब तबीयत को देखते हुए उसे एम्स ऋषिकेश के लिए रेफर कर दिया।

इसके साथ ही  सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि सूचना पर नारसन क्षेत्र में एक महिला की सिविल अस्पताल में जांच की गई है। हालांकि महिला में कोरोना वायरस जैसे कोई लक्षण नहीं मिले हैं। वहीं सिविल अस्पताल में तीन नए संदिग्ध आइसोलेशन में भर्ती कोरोना वायरस के संदिग्धों का सिविल अस्पताल में आने वालों का क्रम टूट नहीं रहा है। बुधवार को तीन नए मरीजों को सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया है। इसमें से एक मरीज 9 मार्च को ही दिल्ली मरकज से लौटा था। तीनों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।इसके साथ ही  जिनकी रिपोर्ट आने के बाद ही सही जानकारी मिल सकेगी।

दिल्ली की मरकज में मिले कोरोना वायरस के शिकार लोगों ने उत्तराखंड को भी हिला कर रख दिया है। वहीं इसे लेकर रुड़की स्वास्थ्य विभाग की टीम भी अलर्ट हो गई है। टीम गांव देहात व शहर में पता लगा रही है कि उनके घर के पास कोई संदिग्ध मरीज कोरोना का तो नहीं है। इसके साथ ही सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि बुधवार को तीन मरीज संदिग्ध मिले थे, जिनके ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं।वहीं  सिविल अस्पताल में अब तक कोरोना वायरस के लिए 61 मरीज उपचार कराने के लिए आ चुके हैं। जिनमें से 58 मरीजों के ब्लड सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

लॉकडाउन में सरकार ने गरीबों को दी बड़ी राहत. बढ़ाया मनरेगा मजदूरों का वेतन

कोरोना: क्या देशभर में लागू होगा आपातकाल ? इंडियन आर्मी ने दिया जवाब

कोरोना: आखिर क्यों राज्यपाल लालजी टंडन ने चखा भोजन?