बड़ी संख्या में विदेश से पंजाब लौटना चाहते है भारतीय नागरिक

महामारी कोरोना की वजह से बहुत लोग अपनी कार्यक्षेत्रों में फंस गए है. वही, एनआरआई और देश के अन्य राज्यों में फंसे पंजाब के लोगों की बड़ी स्तर पर आमद से निपटने के लिए राज्य की तैयारियों को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हिदायतें जारी की हैं. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को हिदायत की कि पंजाब लौटने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच की जाए और रेड जोन से वापस आने वालों के लिए एकांतवास और एनआरआई के लिए होटलों /घरों में एकांतवास को यकीनी बनाया जाए.

इस भाजपा सांसद को पश्चिम एशिया और खाड़ी देशों से मिल रही धमकीयां

मंगलवार को मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लेवल-1 और लेवल-2 की सहूलियतों की तैयारियों का ऑडिट करवाने के आदेश देते हुए कहा कि विदेश से 21000 पंजाबी घर वापस आना चाहते हैं. उन्होंने विशेषज्ञों की कमेटी को अपने स्तर पर दिशा-निर्देश और प्रोटोकोल तैयार करने की हिदायत की. 

पुर्तगाली पीएम एंटोनियो कोस्टा को प्रधानमंत्री मोदी ने बोली यह बात

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि वे संबंधित देशों द्वारा पंजाब लौट रहे लोगों को दिए जाने वाले मेडिकल प्रमाणपत्रों पर यकीन नहीं करते. उन्होंने कहा कि एनआरआई को भुगतान के आधार पर होटलों और घरों में एकांतवास के लिए टेस्टिंग लंबित होने तक निगरानी में रखने का विकल्प होना चाहिए, जो उनके पहुंचने पर चार-पांच दिनों के अंदर होना चाहिए. 

निवेश और रोजगार को बढ़ाने के लिए सीएम योगी ने बनाया मास्टर प्लान

योगी सरकार ने खजाना भरने के लिए अपनाया ये तरीका

महबूबा मुफ्ती को लगा बड़ा झटका, रिहाई को लेकर हुई निराश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -