'ओमीक्रॉन' को लेकर MP की तैयारी, दिए ये सख्त निर्देश

भोपाल: मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट 'ओमीक्रॉन' को लेकर खलबली मची हुई है। यहाँ बीते 24 घंटे में कोरोना के 20 नए मामले सामने आए हैं। ऐसे में अब सरकार अलर्ट हो गई है और कोरोना प्रतिबंधों से छूट को कम करने में जुट गई है। आप जानते ही होंगे छूट मिलने के बाद एक बार फिर से मध्यप्रदेश में नए केस तेजी से बढ़ रहे हैं, इसी के चलते मध्य प्रदेश में कोरोना के आंकड़ों ने टेंशन बढ़ा दी है। वहीं इन आंकड़ों को देखने के बाद और आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट बैठक से पहले आपात बैठक बुलाई और कई कड़े निर्देश दिए।

आज यानी मंगलवार को शिवराज सिंह चौहान ने मंत्री और अफसरों की आपात बैठक बुलाई। इस बैठक में मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में स्वास्थ्य मंत्री, चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना की स्थिति और नियंत्रण को लेकर समीक्षा की। वहीं इस बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 16 पॉजिटिव मरीज आने से चिंतित मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में बुलाई आपात बैठक में कलेक्टर को निर्देश दिए। इस दौरान शिवराज सिंह चौहान ने कहा- तुरंत सक्रिय होकर सभी आवश्यक कदम उठाये। इन सभी 16 केसे को आइसोलेट करते हुए इनके परिवार की कोरोना जांच कराएं, कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग करें।


क्या है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा दिए गए निर्देश-

एक क्षण भी लापरवाही ना हो।

टेस्ट की संख्या बढ़ाएं।

आइसोलेट करें।

जरूरत होने पर छोटे कंटेंटमेंट जोन बनाएं।

मास्क पर जोर दें।

सोशल डिस्टेंसिंग का आग्रह करें।

भोपाल एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच शुरू करने के निर्देश।

भोपाल में काटजू अस्पताल सहित अन्य अस्पतालों का चयनित करके रखें।

अस्पतालों में कोरोना से संबंधित सभी आवश्यक मशीन और उपकरण को एक बार चेक करा ले।

एक पूरी कार्ययोजना तैयार कर पूरा प्रशासन अलर्ट पर रहे।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने पीएस स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि कोरोना के संबंधित आंकड़े मेरे समक्ष प्रतिदिन सुबह और शाम नियमित रूप से रखें। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने पीएस स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि प्रदेश के सभी अस्पतालों में कोरोना से संबंधित समस्त मशीनरी का समीक्षा करें , इनका ट्रायल कर ले, बच्चों के वार्ड, ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर सहित अन्य उपकरण की जांच कर ले। सीएम बोले- प्रदेश में रोको टोको अभियान को गति दें, कोई भी आंकड़े न छुपाए जाए।

'कांग्रेस ने नहीं दिया साथ तो अकेले लड़ेंगे ..', धारा 370 पर बोले फ़ारूक़ अब्दुल्ला

कोरोना से मौत के बाद गायब हो गई थी दो लाशें, 500 दिनों बाद हुईं बरामद

निक्की तंबोली का नया लुक देख हैरान हुए लोग, बोले- यह उर्फी से तो नहीं मिली है ना...

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -