गरीब का सपना हुआ साकार, इस देश ने दिया आलीशान होटल में रहने का मौका

गरीब का सपना हुआ साकार, इस देश ने दिया आलीशान होटल में रहने का मौका

चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस का संकट दुनियाभर में अभी तक छाया हुआ है. इस खतरनाक वायरस के वजह से लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है. ये वायरस शक्तिशाली देशों के लिए भी चुनौती बन गया है और इससे बचने के लिए लगातार उपाय ढूंढे जा रहे हैं. हर देश अपने-अपने तरीके से इसके संकट को कम करने में लगे हैं. इसी बीच एक देश कुछ ऐसा प्रोजेक्ट शुरू करने जा रहा है, जिसके तहत जिन लोगों के पास घर नहीं है उन्हें सड़कों पर सोने के बजाए 5 स्टार होटल में रखा जाएगा. आवासहीनों को कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकार ने इस निर्णय को लिया है. 

दरअसल, यह मामला ऑस्ट्रेलिया के पर्थ का है. यहां सड़कों पर सोने वाले लोगों को बहुत ही महंगे होटल में रहने के लिए शिफ्ट किया जा रहा है. इस होटल का किराया लगभग 20,000 रुपये प्रति रात है. इस प्रोजेक्ट को शुरू करने की तैयारी में पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया की सरकार लग गई है. इस प्रोजेक्ट के दौरान ऑस्ट्रेलिया की सरकार सड़कों पर सोने वाले लोगों को करीब एक महीने तक 5 स्टार होटल में रखेगी. शुरुआती दौर में करीब 20 लोगों को पैन पैसिफिक होटल में ठहरने की व्यवस्था की जाएगी.

बता दें की ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने इस प्रोजेक्ट को होटल्स विद हार्ट नाम दिया है. इस दौरान सरकार वैसे लोगों को तलाश करेगी, जो अभी तक खुद को आइसोलेट करने में नाकाम रहे हैं. इसके बाद इस प्रोजेक्ट में घरेलू हिंसा की शिकार महिलाएं और मेंटल हेल्थ से परेशान लोगों को भी शामिल किया जाएगा. यदि इस प्रोजेक्ट को सरकार सफल होते देखेगी तो होटल के 120 कमरे इस्तेमाल में ले सकती है. कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए ऑस्ट्रेलिया सरकार ने एक टास्क फोर्स का गठन किया है. सरकार का कहना है कि वो इस प्रोजेक्ट के माध्यम से स्वास्थ सेवाओं पर पड़ने वाला दबाव कम हो जाएगा.

इस जगह पर परमाणु हथियारों की रक्षा करती है डॉल्फिन और समुद्री शेरों की फौज

इस खतरनाक जगह पर अकेला रहता है ये शख्स, कई सालों से वीरान पड़ा हुआ है इलाका

इस देश के डॉक्टर्स का ख्याल रख रहा है डॉगी