CDRI ने बनाई कोरोना की नई दवा, 5 दिन में ख़त्म करेगी वायरल लोड

नई दिल्ली: देश में अभी भी कोरोना महामारी का आतंक बना हुआ है इस बीच केंद्रीय औषधिक अनुसंधान संस्थान (CDRI), लखनऊ ने COVID की स्वदेशी दवा उमीफेनोविर बनाने का दावा किया है। संस्थान के मुताबिक इस एंटीवायरल दवा के तीसरे राउंड का क्लिनिकल ट्रायल कामयाब रहा है। संस्थान का कहना है कि उमीफेनोविर कोरोना के हल्के व लक्षणरहित मरीजों के उपचार में बहुत असरदायी है तथा उच्च जोखिम वाले मरीजों के लिए रोगनिरोधी के तौर पर लाभदायक है। यह पांच दिन में वायरल लोड को पूरी तरह से समाप्त कर देता है।

वही CDRI के निदेशक प्रो. तपस कुंडू ने कहा कि औषधि महानियंत्रक, भारत सरकार (DCGI) ने गत वर्ष जून में केजीएमयू, एरा लखनऊ मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल तथा राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज की मदद से CDRI को लक्षणविहीन, हल्के तथा मध्यम कोरोना मरीजों पर तीसरे चरण के क्लिनिकल जांच की इजाजत दी थी। CSIR ने 16 दवाएं सुझाई थीं, जिनमें से ट्रॉयल के लिए उमीफेनोविर (आर्बिडोल) का सिलेक्शन किया गया।

साथ ही निदेशक प्रो. कुंडू ने कहा कि उमीफेनोविर दवा के तौर पर है। इसे सिरप तथा इनहेलर के तौर पर भी विकसित करने पर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जांच में ऐसे रोगी भी सम्मिलित थे, जिनमें वायरस का डेल्टा वेरियंट प्राप्त हुआ था। ऐसे में कहा जा रहा है कि यह डेल्टा वेरिएंट पर भी कारगर हो सकती है। उन्होंने कहा कि 132 रोगियों पर क्लिनिकल जांच की गई। निदेशक ने कहा कि उमीफेनोविर सार्स कोविड-19 के सेल कल्चर को बहुत असरदायी तरीके से समाप्त करता है।

Swiggy-Zomato से खाना मंगाना हो सकता है महंगा, सामने आई बड़ी वजह

अफगानिस्तान संकट पर बनेगी फिल्म, गरुड़ कमांडोज की होगी कहानी

ISI टेरर मॉड्यूल: कोई अकाउंटेंट, तो कोई ड्राई फ्रूट का कारोबारी..., जानिए कौन हैं देशभर से पकड़े गए 6 आतंकी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -