जानवरों में भी कोरोना का खौफ, बेज़ुबानों के बाड़ों को किया जा रहा सेनेटाइज़

कानपूर: कोरोना माहमारी का डर सिर्फ़ मनुष्यों में ही नहीं है, जानवरों के भी इसके संक्रमण की ज़द में आने का डर चिड़ियाघर प्रशासन को सताने लगा है. वन्य जीवों को कोरोना की चपेट में आने से बचाने के लिए चिड़ियाघर प्रशासन ने सेनिटाइज़ेशन का कार्य तेज़ कर दिया है. जानवरों के बाड़ों के भीतर और बाहर विष्णुरोधक दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है.

सेंट्रल ज़ू अथॉरिटी से मिले निर्देशों के बाद चिड़ियाघर में पूरी सतर्कता और सावधानी बरती जा रही है. नियमित रूप से जानवरों के बाड़ों में सेनिटाइज़ेशन का काम चल रहा है, जिसकी निगरानी सीसीटीवी कैमरे द्वारा की जाती है. चिड़ियाघर के वन्यजीव चिकित्सक प्रभारी का कहना है जानवरों की बाड़ में प्रवेश करने से पहले कीपर्स के हाथ धुलवाकर सेनिटाइज़ कराए जाते हैं. इसके बाद ही उन्हें अंदर जाने दिया जाता है. एक बाड़े के कीपर को दूसरे बाड़े में जाने की मनाही है. चिड़ियाघर के आस-पास रहने वाले लोगों का भी कहना है कि प्रशासन की इस सतर्कता से उन्हें सुरक्षित महसूस हो रहा है.

आपको बता दें कि न्यूयॉर्क के ब्रोंक्स चिड़ियाघर में पहली बार जानवरों में कोरोना वायरस के संक्रमण का केस सामने आया था. यहां रहने वाली चार वर्ष की मलेशियाई बाघिन नादिया में कोरोना के लक्षण दिखने के बाद उसका टेस्ट पॉज़िटिव आया था. जिसके बाद पूरे विश्व के चिड़ियाघरों में सतर्कता बढ़ा दी गई थी.

बिहार सरकार ने किया लॉकडाउन बढ़ाने का समर्थन, विपक्ष बोला- लोगों को सुविधा भी दें

व्हाट्सएप ग्रुप में आपत्तिजनक फोटो डालने वाले अफसर को हटाया

जमीयत उलेमा ए हिंद का ऐलान, डिटेंशन कैंप से जमानत पर छूटे लोगों की करेंगे मदद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -