कोरोना के शक में इस शख्स ने खुद को किया खत्म

भारत में दिन प्रतिदिन कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली है.  कर्नाटक के उडुपी जिले में एक व्यक्ति इस वजह से आत्महत्या कर ली क्योंकि, उसे शक था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया है. हालांकि, बाद में उसकी रिपार्ट नेगेटिव आई है.  

लॉकडाउन: प्रवासी श्रमिकों के लिए शेल्टर होम्स में तब्दील किए गए स्कूल, खाने-पीने का मुफ्त बंदोबस्त

इस मामले को लेकर उडुपी में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि पोस्टमॉर्टम टेस्ट रिपोर्ट से पता चला है कि शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं था. साथ ही उस इलाके में  रह रहे लोगों से कहा है कि उन्हें घबराने की जरुरत नहीं है. जानकारी के लिए बता दें कि बुधवार को गोपालकृष्ण मड़ीवाला (56) ने खुद को फांसी लगा ली थी. क्योंकि उसे शक था कि वह कोरोना वायरस की चपेट में आ गया है. मरने से पहले उसने एक चिट्टठी भी लिखी है जिसमें अपने परिवार से सुरक्षित रहने के लिए कहा है.

कपिल सिब्बल का पीएम मोदी पर हमला, कहा- जनता कर्फ्यू के लिए नोटिस, लॉकडाउन के लिए क्यों नहीं ?

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि देश में बड़ी तेजी से कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. अब तक देश में कोरोना वायरस से 900 के करीब लोग संक्रमित हो गए हैं. हालांकि, ठीक होने वालों का आंकड़ा भी धीरे-धीरे बढ़ रहा है. फिलहाल कोरोवा वायरस के प्रसर को कम करने के लिए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया है ताकि, ये राज्यों में तेजी से ना फैल सकें.

टीम इंडिया की 16 वर्षीय महिला क्रिकेटर ने कोरोना से लड़ने के लिए दिए एक लाख रुपए

जम्मू कश्मीर में 'कोरोना' महामारी से दूसरी मौत. लोगों में दहशत का माहौल

लॉकडाउन में बिजली विभाग का बड़ा फैसला, 3 महीने के औसत के आधार पर आएगा अप्रैल का बिल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -