बाबा अमरनाथ की यात्रा करने वालों को करना पड़ेगा इंतजार, जानें क्यों

आम जनजीवन को कोरोना वायरस ने नष्ट कर दिया है, वायरस की वजह से लोगों का घरों से निकलना दुभर हो गया है. वही, धार्मिक यात्राओं पर भी ब्रेक लगा गया है. बाबा अमरनाथ और कैलाश मानसरोवर की यात्राएं भी कोरोना वायरस के लॉकडाउन से प्रभावित हुई हैं. बाबा अमरनाथ की यात्रा 23 जून से शुरू हो जाती है. इसके लिए एडवांस में पंजीकरण करना होता है. इस बार इस यात्रा के लिए एडवांस पंजीकरण एक अप्रैल से शुरू होना था मगर अब इसे 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. उधर कैलाश मानसरोवर यात्रा की तो संभावनाएं ही खत्म होती दिख रही हैं. 

NIV की बड़ी कामयाबी, कोरोना वायरस को अलग करने में हासिल की सफलता

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मानसरोवर यात्रा की तैयारियों को लेकर विदेश मंत्रालय हर साल केएमवीएन, आइटीबीपी, पिथौरागढ़ जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक करता है. इसी बैठक में जत्थों व यात्रियों की संख्या, यात्रा के रूट समेत अन्य व्यवस्थाओं को लेकर अहम निर्णय लिए जाते हैं.

लॉकडाउन: श्री राम जन्मभूमि अयोध्या में बगैर भक्तों के हो रही पूजा-अर्चना

अगर आपको नही पता तो बता दे कि इस बैठक के बाद ही विदेश मंत्रालय द्वारा यात्रा पंजीकरण के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू किए जाते हैं लेकिन इस बार अब तक पंजीकरण शुरू होना तो दूर विदेश मंत्रालय की बैठक तक नहीं हुई है. जबकि पिछली बार यह बैठक 22 फरवरी को हो चुकी थी. 17 मार्च के बाद यात्रा के लिए पंजीकरण भी शुरू हो चुके थे. निगम प्रबंधन यात्रा तैयारियों की बैठक को लेकर विदेश मंत्रालय के पत्र का इंतजार कर रहा है. ऐसे में इस यात्रा पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

लॉकडाउन में सरकार ने गरीबों को दी बड़ी राहत. बढ़ाया मनरेगा मजदूरों का वेतन

चिदंबरम का मोदी सरकार पर आरोप, कहा- बिना तैयारी किए किया लॉकडाउन, जनता परेशान

इंदौर में एक दिन में कोरोना के 17 मामले, सीएम शिवराज ने वीडियो जारी कर की ये अपील

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -