इस इवेंट के रद्द होने से स्मार्टफोन इंडस्ट्री को लग सकता है तगड़ा झटका

इस इवेंट के रद्द होने से स्मार्टफोन इंडस्ट्री को लग सकता है तगड़ा झटका

हर साल की तरह MWC मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस का आयोजन इस साल भी स्पेन की राजधानी बार्सिलोना में किया जाना था. मगर, कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए आयोजकों ने इस मेगा इवेंट को रद्द करने का फैसला किया है. 24 फरवरी से लेकर 27 फरवरी 2020 तक आयोजित किए जाने वाले इस इवेंट में दुनियाभर की टेक्नोलॉजी कंपनियां हिस्सा लेने वालीं थी. इस मेगा टेक इवेंट में स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के अलावा नेटवर्क प्रोवाइडर्स, कॉम्पोनेंट मैन्युफेक्चर्रस, कनेक्टिविटी सॉल्यूशन प्रोवाइडर्स भी हिस्सा लेते हैं। इसके रद्द हो जाने पर स्मार्टफोन इंडस्ट्री पर कितना असर पड़ेगा इसके लिए हमने टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स से बात की है.

WhatsApp के उपभोक्ताओं की संख्या हुई 1 अरब के पार

इस मामले को लेकर हमने टेक एक्सपर्ट इर्शाद कलिबुल्लाह (Mr Phone) से इसके बारे में बात की. उन्होंने कहा, ‘MWC 2020 के रद्द हो जाने से स्मार्टफोन इंडस्ट्री पर निश्चित ही प्रभाव पड़ने वाला है क्योंकि MWC में केवल स्मार्टफोन्स लॉन्च नहीं होते हैं बल्कि इस इवेंट में मोबाइल निर्माता कंपनियां कई और महत्वपूर्ण बैठकें, बिजनेस डील्स भी करती हैं.जाहिर है, कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स को अलग से लॉन्च करेंगी, लेकिन मुझे यकीन है कि छोटे चिप और सेमीकंडक्टर बनाने वाली कंपनियां इसके जरिए मिलने वाले बड़े अवसर को चूक जाएंगी. यह कह सकते हैं कि GSMA (ग्लोबल सिस्टम फॉर मोबाइल सॉल्यूशन्स) द्वारा उठाया गया एक अच्छा कदम है. ये देखते हुए कि ये एक ग्लोबल इवेंट है. इस समय व्यापार से ऊपर उठकर लोगों के कल्याण को देखना महत्वपूर्ण है.’

कल से Realme C3 पहेली बार सेल के लिए होगा अवेलेबल, मिलेंगे आकर्षक ऑफर्स

इसके अलावा इंडिपेंडेंट टेक जर्नलिस्ट अभिषेक बख्शी ने कहा, ‘मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस 2020 के रद्द होने से बड़े प्लेयर्स जैसे कि Huawei को इतना फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि वो चीन में या फिर यूरोप में कहीं लॉन्च कर लेंगे तो उनको ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. बड़ी कंपनियां अपने फाइनेंशियल लॉस को कवर भी कर लेतीं हैं. हालांकि, छोटे स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को इसका बड़ा असर पड़ने वाला है. यही नहीं, स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के ओवरऑल ईयरली लॉन्च शेड्यूल पर भी इसका असर पड़ेगा. इसकी वजह से स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के लॉन्च साइकिल डिस्टर्ब हो जाएगी. स्मार्टफोन कंपनियां की लॉन्च साइकिल गड़बड़ाने से डिस्ट्रीब्यूटर्स और कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स कंपनियों के साथ उनके टाई-अप्स और चैनल्स सप्लाई में दिक्कत आ सकती हैं. स्मार्टफोन कॉम्पोनेंट जैसे कि मदरबोर्ड, प्रोसेसर आदि बनाने वाली कंपनियों पर भी इसका असर दिखेगा. इस इवेंट में ये अन्य कंपनियों के साथ टाई-अप्स करते हैं, जो नहीं हो पाएगा. Ericsson की बात करें तो इसका पूरा एक फ्लोर होता है, जिसमें वो स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के साथ टाई-अप्स करता है, वो अब नहीं हो पाएगा. ओवरऑल, बात करें तो इस टेक इवेंट के रद्द होने पर निश्चित ही मोबाइल इंडस्ट्री पर  निश्चित ही असर पड़ने वाला है.

इंडिगो ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट को किया हिंदी में लॉन्च

Valentine's Day 2020: इस वैलेंटाइन अपने पार्टनर को दें कुछ खास उपहार

बिना माउस इन keyboard shortcut से कर सकते है काम को और भी आसान