सख्त प्रोटोकॉल के बाद भी जूनियर हॉकी वर्ल्डकप में पाया गया कोरोना संक्रमित

कड़े प्रोटोकॉल के बावजूद जूनियर हॉकी वर्ल्डकप कोविड महामारी की चपेट में आ चुका है। शुक्रवार को एक व्यक्ति संक्रमित मिला है जो कलिंगा स्टेडियम पर मीडिया सेंटर के संपर्क में था। बायो बबल के अंदर  होने और इसकी कवरेज के लिए आए मीडिया कर्मियों की हर 48 घंटे में RT-PCR टेस्ट होने के बावजूद गुरुवार को कराए गए टेस्ट में एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। 

स्थानीय आयोजन समिति के मुताबिक यह व्यक्ति ओडिशा गवर्नमेंट के खेल और युवा कार्य विभाग की सोशल मीडिया टीम का मेंबर है। उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है। इससे पहले इंडियन टीम को सेमीफाइनल में जर्मनी के हाथों हार झेलना पड़ा था। जर्मन टीम ने इंडिया  को 4-2 से मात देकर और फाइनल में स्थान बनाया। अब फाइनल में उनका सामना अर्जेंटीना से होगा। वहीं, भारतीय टीम तीसरे स्थान के लिए फ्रांस से भिड़ने वाले है।

जर्मनी ने दस मिनट में चारों गोल दाग दिए। उसके लिए इरिक क्लेनलेन (15वें मिनट), आरोन फ्लैटेन (21वें मिनट), कप्तान हेंस मूलर (24वें) और क्रिस्टोफर कुटर (25वें मिनट) ने गोल  दागे। भारत की ओर से उत्तम सिंह (25वें मिनट) और बॉबी सिंह धामी (60वें मिनट) ने 1-1 गोल दागा। जर्मनी इससे पहले 2013 में दिल्ली में हुए वर्ल्डकप में फाइनल में पहुंची थी और विजेता भी बन गई थी। लखनऊ में 2016 में उसने कांसा जीता था। 

क्या नोवाक जोकोविच ऑस्ट्रेलियन ओपन नहीं लेंगे भाग, सामने आई वैक्सीन न लेने की खबर!

डेक्कन ग्लेडिएटर्स खेलने और मैच जीतने के लिए सही रवैया रखते हैं

खराब विश्व कप क्वालीफाइंग अभियान के कारण चीन ने कोच ली टाई को हटाया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -