कोरोना के संकट को देखते हुए केंद्र ने सभी राज्यों को लिखा पत्र, दिए ये निर्देश

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने सभी राज्यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों से तत्काल कोरोना संक्रमण की जांचों के आँकड़े को बढ़ाने को कहा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक चिट्ठी जारी कर बताया है कि कोरोना के हॉटस्पॉट तथा बंद घनी आबादी वाले इलाकों में राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश टेस्टिंग को तत्काल रणनीतिक तरीके से बढ़ाएं. दरअसल, भारत में कोरोना का ग्राफ अब थोड़ा नीचे आ रहा है. बीते 24 घंटे में भारत में 2.38 लाख नए केस सामने आए जो रविवार के मुकाबले 7.8% कम है. संक्रमण दर में भी थोड़ी कमी आई है.

वही सोमवार को सकारात्मकता दर 13.11% रहा जो रविवार को 14.78% थी. दिल्ली तथा मुंबई में भी निरंतर कोरोना के मामले घट रहे हैं. ये दोनों कोरोना के हॉटस्पॉट थे, जहां रफ़्तार से मामले बढ़े थे. मगर अब यहां दोनों स्थान कुछ दिनों से मामले कम हो रहे हैं. वही कोरोना के टेस्ट में कमी आने का एक कारण इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के नए दिशा-निर्देशों को भी माना जा रहा है. कोरोना टेस्टिंग पर ICMR के नए दिशा-निर्देशों के अनुसार, पॉजिटिव के कांटेक्ट में आए लोगों को भी कोरोना का टेस्ट कराने की आवश्यकता नहीं है.  

वही ICMR के नए दिशा-निर्देश बोलते है कि कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज के कांटेक्ट में आए केवल उन्हीं लोगों का टेस्ट कराने की आवश्यकता है जिनकी आयु 60 साल से ऊपर है तथा जिन्हें कोई गंभीर बीमारी है. सरकार ने बुजुर्गों तथा गंभीर रोगों से जूझ रहे मरीजों को हाई रिस्क कैटेगरी में रखा है.

वीडियो कॉल के जरिए केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने पूछा कोरोना संक्रमितों का हाल

कोरोना पॉजिटिव होने पर दे इन बातों पर ध्यान

शिवराज सरकार का बड़ा ऐलान- 'टैक्स फ्री होगी शराब...'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -