कोरोना को लेकर बड़ी खबर, अब दिल्ली में भी ही सकेगी वायरस की जांच

कोरोना को लेकर बड़ी खबर, अब दिल्ली में भी ही सकेगी वायरस की जांच

नई दिल्ली: एकाएक बढ़ा ही जा रहा कोरोना का प्रकोप आज पूरी दुनिया के लिए महामारी का रूप लेता रहा है. वही  इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 19000 से अधिक मौते हो चुकी है. लेकिन अब भी यह मौत का खेल थमा नहीं है. इस वायरस ने आज पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. कोरोना वायरस की जांच के लिए दिल्ली एनसीआर की सात प्राइवेट लैब को अनुमति मिल चुकी है. हालांकि इनमें से ज्यादातर लैब में अगले दो से तीन में कोविड-19 की जांच शुरू हो सकेगी. इसके लिए संबंधित लैब में फोन कॉल करके बुकिंग करानी होगी. प्राइवेट लैब की ओर से घर बैठे ये सुविधा दी जाएगी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन लैब को होम कलेक्शन के निर्देश दिए हैं. 

मिली जानकारी के अनुसार  सरकारी अस्पताल में फिलहाल होम कलेक्शन की सेवा नहीं है. नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद में फिलहाल सरकारी लैब में जांच नहीं हो रही है. केवल दिल्ली के सात बड़े अस्पतालों व एनसीडीसी के मुख्यालय में ये सेवा उपलब्ध है. जंहा यह भी कहा जा रहा यही कि आईसीएमआर की आधिकारिक वेबसाइट http://www.icmr.nic.in से भी जानकारी हासिल कर सकते हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार प्राइवेट लैब में जांच कराने के लिए कीमत तय की जा चुकी हैं. प्राइवेट लैब 4500 रुपये से अधिक कीमत नहीं ले सकती हैं. स्क्रीनिंग के लिए अधिकतम 1500 और टेस्टिंग के लिए अधिकतम 3 हजार रुपये ले सकते हैं. 

वहीं सरकार का ये भी कहना है कि हर किसी को कोरोना वायरस की जांच कराने की आवश्यकता नहीं है. जो लोग विदेश होकर आए हैं या फिर विदेश से आने वालों के संपर्क में आए हैं वे लोग जांच करा सकते हैं.  कोरोना जांच से जुड़ी तमाम जानकारियों के लिए सरकार की हेल्पलाइन 1075 और 011-23978046 पर कॉल कर सकते हैं. इसके अलावा जिन प्राइवेट लैब को जांच की अनुमति मिली है उनकी वेबसाइट पर भी संपर्क किया जा सकता है. 

कोरोना वायरस की दहशत में इस दिग्गज बांग्‍लादेशी नेता को मिली जेल से रिहाई

मप्र: राज्य में कोरोना से हुई पहेली मौत, टेस्ट से पहले भागा परिवार का संदिग्ध शख्स

भोपाल के बाद अब इंदौर में भी लागू हुआ कर्फ्यू, मध्य प्रदेश में कोरोना के 6 मामले दर्ज