नया खतरा: मिजोरम में मिले 3 अलग-अलग कोरोना वैरिएंट के मरीज, डॉक्टर्स भी हैरान

Jul 22 2021 02:22 PM
नया खतरा: मिजोरम में मिले 3 अलग-अलग कोरोना वैरिएंट के मरीज, डॉक्टर्स भी हैरान

आइजोल: मिजोरम में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 75 मामले सामने आए हैं. कोरोना से संक्रमित इन मरीजों में से तीन में अलग-अलग कोरोना वेरिएंट पाए गए हैं. राज्य के नोडल अधिकारी और कोरोना पर आधिकारिक प्रवक्ता डॉ. पचुआउ ललमालसाव्मा (Pachuau Lalmalsawma) ने जानकारी देते हुए बताया है कि लगभग 100 सैम्पल्स में से डेल्टा वेरिएंट (B.1.617.2), एक केस ब्रिटेन के अल्फा (B.1.1.7) और इटा (B.1.525) का मिला है.

पचुआउ ललमालसाव्मा ने आगे कहा कि इन सैम्पल्स को जून में पश्चिम बंगाल के कल्याणी में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (NIBMG) में जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए पहुंचाया गया है. मिजोरम सरकार सूबे में और वेरिएंट का पता लगाने के लिए व्यापक प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि लोगों को बेहद सावधान रहना होगा और गाइडलाइन्स का सख्ती से पालन करना होगा, क्योंकि राज्य के अन्य हिस्सों में कोरोना के अलग वेरिएंट पहले ही मौजूद हैं.

अधिकारी ने बताया कि डेल्टा स्वरूप के 73 मामलों में से 56 केस आइजोल, 9 लुंगलेई, 5 कोलासिब में और 3 सेरचिप से मिले हैं. अल्फा और इटा स्ट्रेन के दोनों केस आइजोल में पाए गए हैं. एक अध्ययन का हवाला देते हुए पचुआउ ने कहा कि इटा वेरिएंट ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि इसमें 69 फीसद मरीजों को ICU में उपचार कराने की आवश्यकता पड़ी. उन्होंने बताया कि डेल्टा स्वरूप से संक्रमित मरीजों में मृत्यु दर 0.1 फीसद, अल्फा स्वरूप में दो फीसद और इटा स्वरूप में 2.7 फीसद पाया गया है.

सॉफ्टवेयर कंपनी IBM करेगी बेंगलुरू अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के संचालन को डिजिटाइज

ये राज्य जल्द शुरू करेगा बहुप्रतीक्षित इलेक्ट्रिक वाहन नीति

राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित हुआ ‘चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग’, सीएम योगी ने जताया गडकरी-मोदी का आभार