गर्मी में कोरोना ख़त्म हो जाएगा, जाने कितनी सच्चाई है इसमें

जब कोरोना का कहर फ़ैल रहा है ऐसे में कयास लगाए जा रहे है की ये वायरस गर्मी में जिन्दा नहीं रह सकता है इसमें कितनी सच्चाई है ये आधिकारिक रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता है लेकिन हालातो का मुआयना करने पर ये बात सामने आयी है की ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं जो मौसम बदलते समय सिर उठाती हैं। जैसे ही मौसम स्थिर होता है, वो खत्म हो जाती हैं। मौसमी बुखार इसकी सबसे आम मिसाल है। इसी तरह टायफाइड या खसरा अक्सर गर्मी के मौसम में सिर उठाती है।

मैदानी इलाकों में खसरा अक्सर गर्मी के मौसम में पैर फैलाता है। जबकि, उष्णकटिबंधीय इलाकों में ये बीमारी सूखे मौसम में सबसे ज्यादा फैलती है कोविड-19 वायरस सबसे पहले चीन में दिसंबर महीने में फैलना शुरू हुआ था। और तभी से ये वायरस लगातार फैल रहा है। अमरीका और यूरोप के देशों में भी इसने कहर बरपाया हुआ है। अभी तक देखा गया है कि ठंडे इलाकों में ये काफी तेजी से फैल रहा है। वहीं जिन इलाकों में अभी थोड़ा सर्द और थोड़ा गर्म मौसम है वहां इसकी रफ्तार धीमी है। लिहाजा माना जा रहा है कि गर्मी का मौसम शुरू होने के साथ ये वायरस खत्म हो जाएगा। हालांकि बहुत से जानकार, अभी भी इस बात से सहमत नहीं हैं।

फिलहाल तो रिसर्चर यही मान रहे हैं कि कोविड-19 ठंडे और सूखे माहौल में ही पनपता है। लेकिन अभी जिन देशों में इस वायरस ने पनाह ली है, उनमें बहुत गर्म और उमस वाले देश भी शामिल हैं। हालांकि बहुत सी अप्रकाशित रिसर्च में यही दावा किया गया है कि बढ़ता तापमान इस वायरस की गति को धीमा कर देगा। लेकिन, बहुत से जानकार इससे सहमत नहीं हैं। फिलहाल रिसर्चर सिर्फ कंप्यूटर मॉडलिंग पर ही यकीन कर रहे हैं और उसी के आधार पर बात कर रहे हैं।

फुटवियर सिलेक्शन को लेकर रहती है कंफ्यूज तो ये टिप्स आएगी काम

कोरोनावायरस सम्बंधित जागरूकता बढ़ाने के लिए युवराज सिंह-समर्थित हैल्थियंस ने लाईकी से मिलाया हाथ

घर को संक्रमण से शुद्ध रखने के लिए बस करे ये एक उपाय, सुरक्षित रहेगा परिवार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -