कोरोना से गवा सकते है जान, किसी भी हाल में न करें लक्ष्मण रेखा पार

May 22 2020 06:50 PM
कोरोना से गवा सकते है जान, किसी भी हाल में न करें लक्ष्मण रेखा पार

शुक्रवार को कोरोना और लॉकडाउन की स्थिति को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस हुई. इस मौके पर आईसीएमआर के डॉ. रमन आर गंगाखेडकर ने कहा कि  27,55,714  COVID19 टेस्‍ट आज दोपहर 1 बजे तक किए गए हैं. 18287 परीक्षण निजी प्रयोगशालाओं में किए गए. 

देहरादून में बाहर से आने वाली गाड़ियों पर लग सकता है कोविड टैक्स

अपने बयान में एम्पावर्ड ग्रुप 1 के अध्‍यक्ष डॉ.वीके पॉल ने कहा कि कई मॉडल से ये बात सामने आ रही है कि कोरोना वायरस से 37,000-78,000 मौतें हो सकती थीं. 14-29 लाख मामले हो सकते थे, लाखों मामले नहीं फैले क्योंकि हमने फैसला किया कि हम घर की लक्ष्मण रेखा को पार नहीं करेंगे. आज 10 करोड़ से भी ज़्यादा लोग 'आरोग्य सेतु' से जुड़ गए हैं.  

पसीना बहाते नजर आई आम्रपाली दुबे, यहां देखे हॉट वीडियों

इसके अलावा डॉ.वीके पॉल ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में 19 तारीख को 1 करोड़ इलाज पूरे हो गए. जब देश में हमने लॉकडाउन शुरू किया तो कोरोना वायरस के मामलों का डबलिंग रेट 3.4 दिन था, आज ये 13.3 दिन है. सबने मिलकर देश में कोरोना वायरस के मामलों के बढ़ने को कम किया. वहीं 48,534 COVID-19 रोगियों, जो कि कुल मामलों का लगभग 41 प्रतिशत है, अब तक ठीक हो चुके हैं. 

प्रवासियों के लिए गढ़वाल में तीन और कुमाऊं में दो क्वारंटीन सेंटर

यमुनोत्री हाईवे पर ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, एक शव बरामद

प्रवासियों को बॉर्डर एरिया पर क्वारंटीन करवाने के लिए नहीं है कोई व्यवस्था