तांबे के बर्तन का इस तरह इस्तेमाल पहुँचता है स्वस्थ को नुक्सान

आमतौर पर अपने तांबे के बर्तन के इस्तेमाल के लाभ सुने होंगे पर आज हम आपको इससे होने वाले नुक्सान के बारे में बताने जा रहे है।  सेहत को लेकर जितनी जाकरुकता आजकल फैलाई जा रही है उतना शायद पहले कभी नहीं था। लेकिन इन सबके बावजूद लोग बीमार रहते हैं। बहुत से लोग तांबे के बर्तन में भोजन करना भी पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तांबे के बर्तन में रखे कुछ खाद्य पदार्थ को खाने से सेहत को नुकसान पहुंचता है। आइए जानें कौन से खाद्य पदार्थ हैं जिसे नहीं तांबे के बर्तन में न रखना चाहिए और न ही खाना चाहिए। तांबे के जग में पानी पीना तो सेहत के लिए सही है लेकिन अगर इस जग में नींबू का शर्बत या शिकंजी पीते हैं तो ये बहुत नुकसानदेह होता है। नींबू में मौजूद प्राकृतिक साइट्रिक एसिड तांबे के साथ मिलकर सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं।

ध्यान देने वाली बात ये है कि दही में पेट को ठीक करने वाले बैक्टीरिया लैक्टोबेसिलस पाए जाते हैं। लेकिन अगर इसको तांबे के बर्तन में जमा दिया जाए तो ये अपने स्वभाव के उलट परिणाम दिखाने लगती है। दूध या दूध से बने किसी भी पदार्थ को तांबे के बर्तन में रखने पर उसके सभी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। अगर तांबे के बर्तन में दूध से बने पदार्थ को खा लिया जाए तो उल्टी, डायरिया या पेट से जुड़ी परेशानी हो जाती है।  तांबे के बर्तन में अचार रखने से तांबे के साथ मिलकर अचार जहरीला हो जाता है। इसको खाने से पेट में जलन, एसीडिटी और अपच जैसी समस्याएं पैदा हो जाती हैं। अगर तांबे के बर्तन में अचार रखा जाए तो वह जल्दी ही खराब भी हो जाता है। इसीलिए अचार वगैरह खट्टी चीज को चीनी मिट्टी के बर्तन में रखा जाता है। दही

प्रेगनेंसी में साबुन का इस्तेमाल बन सकता है खतरा, जाने

Weight Loss : विटामिन सी करेगा मोटापे के कम, जाने

विटामिन डी की कमी से होती है ये गंभीर बीमारिया

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -