वंदे मातरम के दौरान मेयर के बैठे रहने पर विवाद

नई दिल्ली : राजनीतिक दलों को विवाद के लिए छोटा सा मुद्दा ही काफी होता है. ऐसा ही मेरठ में भी हुआ जब मंगलवार को नगर निगम के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान बीएसपी मेयर सुनीता वर्मा वंदे मातरम के दौरान बैठी रहीं. इसके विरोध में बीजेपी पार्षदों ने नारेबाजी की गई. बीजेपी और बीएसपी पार्षद आमने-सामने हो गए.

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को शपथ ग्रहण समारोह के दौरान टाउन हॉल में वन्दे मातरम गायन के साथ शुरू हुआ तो नई मेयर सुनीता वर्मा और बीएसपी के पार्षद बैठे रहे. इसके विरोध में बीजेपी पार्षदों ने नारेबाजी शुरू कर दी. थोड़ी ही देर में माहौल तनाव पूर्ण हो गया. महापौर सुनीता वर्मा और बीएसपी पार्षदों के बैठे रहने से बीजेपी पार्षद भड़क गए और बीएसपी का विरोध करते हुए वे नारेबाजी करने लगे. बीजेपी की नारेबाजी के जवाब में बीएसपी और मुस्लिम पार्षदों ने भी जयभीम और अल्लाहु अकबर के नारे लगाए.

बता दें कि जब मेयर सुनीता वर्मा से वन्दे मातरम के दौरान बैठे रहने पर किए सवाल के जवाब में सुनीता वर्मा ने कहा कि सदन की कार्यवाही में वंदे मातरम नहीं है, इसलिए वह इसे नहीं गाएंगी. इसके बाद ही विवाद शुरू हुआ. बीजेपी नेताओं ने बीएसपी मेयर की होर्डिग फाड़ दी और बसपा विरोधी नारे लगाए. इस मामले में बीजेपी महानगर अध्यक्ष ने नगर विकास आयुक्त लखनऊ को वंदेमातरम के गान में शामिल नहीं होने पर मेयर की शिकायत भेजी है. जो भी हो शपथ ग्रहण वाले दिन ही विवाद हो जाने से आगे भी बीजेपी की ओर से विरोध के स्वर तीखे होने से इंकार नहीं किया जा सकता.

यह भी देखें

टोल प्लाजा पर फायरिंग करने वाला बसपा नेता गिरफ्तार

बड़े पैमाने पर भाजपा नेताओं की जमानत जब्त

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -