नेहरु ने अंधविश्वास की जगह एक वैज्ञानिक रास्ता दिखाया, ये उनकी गलती थी

बड़वानी : आज की राजनीति ऐसी है कि जो नेहरु-गांधी के पक्ष में बोले वो दोस्त और विपक्ष में बोले वो दुश्मन। बड़वानी के जिला कलेक्टर ने नेहरु-गांधी को लेकर फेसबुक पर पोस्ट क्या किया वो सुर्खियों में छा गए। कलेक्टर अजय गंगवार ने रामदेव को निशाऩे पर रखते हुए गांधी परिवार के पक्ष में पोस्ट किया।

फेसबुक पर गंगवार ने लिखा कि जरा गलतियां बता दीजिए जो नेहरू को नहीं करनी चाहिए थी... अगर उन्होंने 1947 में आपको हिंदू तालिबानी राष्ट्र बनने से रोका तो यह उनकी गलती थी, उन्होंने आईआईटी, इसरो, बराक, आईआईएसबी, आईआईएम, भेल स्टील प्लांट, बांध, थर्मल पावर लाए ये उनकी गलती थी, आसाराम और रामदेव जैसे इंटिलेक्चुअल्स की जगह साराभाई और होमी जहांगीर को सम्मान और काम करने का मौका दिया ये उनकी गलती थी, उन्होंने देश में गौशाला और मंदिर की जगह यूनिवर्सिटी खोली ये भी उनकी घोर गलती थी।

आगे उन्होने लिखा कि उन्होंने आप को अंधविश्वास की जगह एक वैज्ञानिक रास्ता दिखाया ये भी गलती थी इन सब गलतियों के लिए गांधी फैमिली को देश से माफी तो बनती है। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के करीबी माने जाने वाले गंगवार से जब इस पोस्ट के बारे में पूछा गया तो उन्होने कहा कि ये उनका पर्सनल ओपिनियन है।

मध्य प्रदेश की पूर्व चीफ सेक्रेटरी निर्मला बुच ने सरकार को गंगवार पर कार्रवाई करने की सलाह दी है। लाल सिंह आर्या का कहना है कि रामदेव बाबा की तुलना आसाराम से करना सही नहीं है। सोशल मीडिया पर कलेक्टर को राजनीतिक कमेंट नहीं करने चाहिए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -