इस्लाम की जीत.. हिन्दुओं के बीच नमाज़... भारत-पाक मैच के बाद किसने फैलाई घृणा ?

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच का इंतज़ार दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों को रहता है। इन दोनों टीमों की प्रतिद्वदिता जगजाहिर है। ICC टी20 वर्ल्ड कप-2021 में भी ये दोनों टीमें आमने-सामने आई थीं। पूरे क्रिकेट जगत की निगाहें इस मैच पर जमी हुई थीं। इस मैच में इतिहास बदला और पाकिस्तान ने पहली दफा किसी वर्ल्डकप में भारत को शिकस्त दी। किन्तु इसके बाद जो हुआ वो निराश करने वाला है। मैच खत्म होने के बाद कुछ ऐसी विवादित घटनाओं ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा, जो क्रिकेट और क्रिकेटर दोनों की छवि धूमिल करती हैं, खासकर पाकिस्तान के क्रिकेटर्स की। आज हम आपको ऐसी ही कुछ घटनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं। 

- इस मुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से मात दी थी। इसके बाद भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को कुछ लोगों ने ट्रोल कर दिया था। शमी के मुस्लिम होने के नाते उन्हें काफी भला-बुरा कहा गया और उन पर पाकिस्तान का समर्थक होने के आरोप भी लगाए गए। शमी को गालियां भरे कमेंट भी मिले। सोशल मीडिया पर किसी ने शमी को पाकिस्तानी कहा, तो किसी ने उनको बिका हुआ बताया। हालांकि,  भारत के ही कई यूज़र्स ने शमी का सपोर्ट भी किया और उन्हें टीम इंडिया का सच्चा हीरो बताया। यहाँ ध्यान देने वाली बात ये भी है कि, मैच हारने के तत्काल बाद विराट कोहली और रोहित शर्मा फैंस के निशाने पर आए थे। लेकिन जैसे ही कुछ समय गुजरा शमी वाला नैरेटिव बढ़ाया जाने लगा। कुछ लोगों का ये भी कहना है कि पाकिस्तान की जीत पर भारत में मनाए गए जश्न को ढकने के लिए शमी के नाम पर मुस्लिम विक्टिम कार्ड खेला गया। बता दें कि, पाकिस्तान की जीत पर हिंदुस्तान में कई जगह आतिशबाजी हुई थी और इसकी खबरों से अब भी सोशल मीडिया पटा हुआ है। 

- पाकिस्तान को यह जीत काफी सालों बाद मिली थी और इसलिए वहां जश्न मनाना लाज़मी था, मगर पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशीद अहमद ने जीत को धार्मिक रंग देते हुए पेश किया। उन्होंने इस जीत को इस्लाम की जीत करार दिया। शेख ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा, 'आज ही हमारा फाइनल था। पूरे विश्व के मुसलमानों के साथ हिन्दुस्तान के मुसलमानों के जज्बात भी पाकिस्तान टीम के साथ थे। सारे इस्लाम को जीत मुबारक हो।' हालांकि, शमी के नाम पर सहनुभूति बटोरने वाले इस मुद्दे पर मौन रहे।  

- पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज़ वाकर यूनुस ने भी ऐसा ही विवादित बयान दिया था, जिसके बाद उनकी भी आलोचना हुई थी। वक़ार ने विकेटकीपर बल्लेबाज़ मोहम्मद रिजवान के ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान नमाज पढ़ने को इस मैच का सबसे खास पल करार दिया था। उन्होंने कहा था, "रिजवान की सबसे अच्छी बात ये थी कि उसने ग्राउंड में खड़े रहकर नमाज पढ़ी, वो भी हिंदुओं के बीच में वो मेरे लिए बहुत ख़ास था।' इस बयान के सामने आने के बाद वकार की काफी आलोचना हुई थी। जिसके बाद उन्होंने इस पर ट्वीट करते हुए माफी मांगी थी।

लाइव शो में एंकर ने कर डाली शोएब अख्तर की बेइज्जती, उठकर चले गए क्रिकेटर

हरभजन-आमिर के बीच शुरू हुआ ट्विटर 'वॉर', भज्जी बोले- चल दफा हो।।।

मस्जिद में झाड़ू लगाते थे इरफ़ान पठान के पिता, बेहद गरीबी में गुजरा थे बचपन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -