फारूक अब्दुल्लाह का विवादित बयान, कहा- पंजाब में भी होंगी नागालैंड जैसी हत्या की घटनाएं, देखते रहिए…

जम्मू: जम्मू में नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला के केंद्र के विरुद्ध इल्जाम अब भी जारी है. अब उन्होंने BSF का मुद्दा उठाते हुए भी सेंट्रल गवर्नमेंट पर इल्जाम लगाया है. उन्होंने बोला है उन्हें लगता है कि उनके पास बहुमत है और कुछ भी कर सकते हैं. पंजाब में, उन्होंने 50 किमी इलाके BSF को सौंप दिया क्यों? क्या उनकी पुलिस इसे नियंत्रित करने में विफल है? वहां भी ऐसी ही लड़ाई होगी जैसा आपने नागालैंड में देखा.

अपनी बात को जारी रखते हुए फारूक अब्दुल्ला ने आगे बोला है, हमने कभी भारत के विरुद्ध कोई नारा नहीं लगाया. हमें पाकिस्तानी भी बोला जाता है. मुझे खालिस्तानी भी कहा जाता था. हम (महात्मा) गांधी के रास्ते पर चलते हैं और गांधी के भारत को वापस लाना चाह रहे है. शेर-ए-कश्मीर भवन में आयोजित एक दिवसीय सम्मेलन में फारूक अब्दुल्ला ने कल बोला था कि अनुच्छेद 370 हटने  के उपरांत परेशानियां और भी तेजी से बढ़ रही है.

‘केंद्र जब तक समझेगा पानी सर से निकल जाएगा’: जहां इस बारें में उन्होंने आगे कहा है कि हमेशा जम्मू-कश्मीर को मुश्किल से मुश्किल दौर से निकाला है. अब फिर से हमें वो रास्तों की खोज करना होगा, जिससे हमारे हक वापस  हमें मिल जाए. यहां के लोगों की खुशियां वापस हों. हमारी बातें जब केंद्र को समझ आएगी, लेकिन उस  वक़्त पानी सिर तक जा चुका होगा. हमें पाकिस्तानी बोला गया है, लेकिन सच्चाई यह है कि हमने हमारी पार्टी के किसी कार्यकर्ता ने देश के विरुद्ध  नारा नहीं लगाया. कभी ग्रेनेड नहीं फेंका, कभी पत्थर नहीं उठाया, लेकिन जो दिल की दूरी और दिल्ली की दूरी कम करने के दावे करते थे, वह बताए कि दूरी बढ़ी है या कम हुई है.

 

Punjab Assembly Elections: अरविंद केजरीवाल के निशाने पर चरणजीत सिंह चन्नी

चीन के आक्रमण पर कांग्रेस ने लोकसभा में स्थगन नोटिस दिया

संसद का शीतकालीन सत्र : भाजपा की बैठक जारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -