कांग्रेस करेगी चंपारण से चुनावी रण का आगाज़

कांग्रेस करेगी चंपारण से चुनावी रण का आगाज़

नई दिल्ली : इस समय बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सारे राजनीतिक दल सक्रिय हो गए हैं लेकिन कांग्रस ने अभी तक बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार का अपना खाता नहीं खोला है। कांग्रेस की शिथिलता से ऐसा लग रहा है जैसे उसे बिहार के विधानसभा चुनाव से ज़्यादा सरोकार नहीं है। वह तो देश के एक बड़े और सबसे पुराने राजनीतिक दल होने की रस्म अदायगीभर कर रही है। जी हां, बिहार में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी काफी देर से मैदान में पहुंचने वाले हैं। यहां राहुल गांधी 19 सितंबर को दलित महापुरूषों भारतरत्न डाॅ. आंबेडकर और बाबू जगजीवनराम को स्मरण करते हुए रैली निकालेंगे। यह रैली राज्य में कांग्रेस के प्रचार अभियान की शुरूआत मानी जाएगी। 

मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस द्वारा अपने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में बिहार विधानसभा चुनाव की शुरूआत करेगी। इस दौरान लालू अपनी इस रैली में छोटे बेटे तेजस्वी यादव को भेजने की योजना बना रहे हैं। दरअसल जनता परिवार गठबंधन में कांग्रेस भी एक सहयोगी दल के तौर पर शामिल है।

राहुल गांधी का मानना है कि यदि इस रैली को जदयू प्रमुख और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव संबोधित करेंगे तो उससे सामाजिक स्तर पर जनता परिवार का संदेश अच्छा जाएगा। यह काफी प्रभावी होगा। कांग्रेस चंपारण में आयोजित की जाने वाली इस रैली के लिए व्यापक तैयारी कर रही है।