वाड्रा को बचाने में जुटी कांग्रेस

नई दिल्ली : बीजेपी नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने हथियार डीलर संजय भंडारी से अपने रिश्ते पर पलटवार करते हुए कहा कि ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस उन पर आरोप लगाकर वाड्रा को बचाने में जुटी है. सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कान्ग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि संजय भंडारी से उनकी पहचान सामाजिक स्तर पर है. सामाजिक पहचान रखना गुनाह नहीं है. 400 काल्स की बात निराधार है. वह किसी भी जांच के लिए तैयार है.

सिंह ने कहा संजय भंडारी से राबर्ट वाड्रा के रिश्ते उजागर होने के बाद कांग्रेस इस मुद्दे से लोगों का ध्यान भटकाने में जुटी है. वित्त मंत्रालय को इन दोनों के कारोबारी रिश्तों की खबर मिलने के बाद इस बात की जांच की जा रही है कि क्या भंडारी ने लन्दन में 2009 में राबर्ट वाड्रा के लिए बेनामी घर खरीदा था. दरअसल, कांग्रेस ने सिद्धार्थ नाथ सिंह के हथियारों के कारोबारी संजय भंडारी से लगातार संपर्क पर सफाई मांगी है.

बता दें कि आयकर विभाग द्वारा अप्रैल में संजय भंडारी के दक्षिण दिल्ली आवास पर की गई छापेमारी में खुलासा हुआ कि वह कुछ ही सालों में करोडपति बन गये. गैर कानूनी पैसे को खाते में लाने के लिए फर्जी कम्पनियां बनाई. माना जा रहा है कि भंडारी के सहयोगी सुमित चन्द्रा राबर्ट वाड्रा के सम्पर्क में थे, उन्होंने मकान खरीदने के लिए ई मेल से चर्चा की थी. 19 करोड़ में खरीदे गये घर को 2010 में बेच दिया गया.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -