'सबसे पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलिए..', राजीव गांधी खेल रत्न का नाम बदलने पर भड़की कांग्रेस

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को खेल रत्न पुरस्कार के नाम बदलने की घोषणा की है. अब इस अवॉर्ड को राजीव गांधी खेल रत्न की जगह मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड के नाम से जाना जाएगा. कांग्रेस ने इस फैसले का स्वागत किया है, किन्तु साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला भी बोला है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस निर्णय पर कहा कि हम मेजर ध्यानचंद के नाम पर खेल रत्न पुरस्कार रखने का स्वागत करते हैं. राजीव गांधी नाम से नहीं, अपने कर्मों से जाने जाते हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि आज जब सरकार ने स्पोर्ट्स का बजट काट दिया है, तो अपनी झेंप मिटाने के लिए ध्यान भटकाने का प्रयास कर रही है. सुरजेवाला ने साथ ही ये भी कहा कि उम्मीद है कि, अब खिलाड़ियों के नाम पर स्टेडियम का नाम रखा जाएगा, सबसे पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम, अरुण जेटली स्टेडियम का नाम बदलकर मैरीकॉम, सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, गोपीचंद सहित अन्य खिलाड़ियों के नाम पर स्टेडियमों के नाम रखिए.

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे कहा कि अपनी लकीर खींचनी आती नहीं, नरेंद्र मोदी दूसरों की लकीरें मिटाते फिरते हैं. बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस की गठबंधन सहयोगी शिवसेना ने केंद्र सरकार के इस निर्णय की आलोचना की है. शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि हर मुद्दे में सियासत घुसाना सही नहीं है. जिस समय ये किया गया है वह अच्छा नहीं है. शिवसेना सांसद ने कहा कि राजीव गांधी किसी पार्टी के नहीं बल्कि देश के पीएम थे.

Tokyo Olympics: सीएम स्टालिन ने की महिला हॉकी टीम की तारीफ, कहा- आपका प्रदर्शन मेडल से कम नहीं

ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी से मिले एस जयशंकर, इस मुद्दे पर हुई घनिष्ट चर्चा

दक्षिण कोरिया और अमेरिका प्योंगयांग से जुड़ाव के प्रयासों पर हुए सहमत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -