कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की मुश्किले बढ़ी, प्रशासन ने किया ऐसा काम

लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के बीच अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के लिए बसों की सूची में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में गिरफ्तार कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को अस्थायी जेल से गुरुवार को गोसाईगंज स्थित जिला जेल में स्थानांतरित कर दिया गया. उन्हें लखनऊ पुलिस ने बुधवार को आगरा से गिरफ्तार किया गया था. लखनऊ लाने के बाद डॉक्टरों ने उनकी कोरोना जांच के लिए सैंपल भेजा था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद पुलिस ने गोसाईगंज जेल भेज दिया. जेल में बने क्वारंटाइन बैरक में उन्हें रखा गया है, जहां उनसे कोई मुलाकात नहीं कर पाएगा.

इमरान खान का बेतुका बयान, भारत कभी भी कर सकता है पाकिस्तान पर हमला

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आगरा में न्यायालय से रिहा होने के बाद अजय कुमार राजधानी लौट रहे थे, जिन्हें लखनऊ पुलिस ने दबोच लिया.राजधानी पुलिस ने अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी की सूचना विधानसभा अध्यक्ष को देने के बाद उनका मेडिकल चेकअप कराया. इसके बाद उन्हें देर रात में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. मजिस्ट्रेट ने यूपी कांग्रेस अध्यक्ष को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में अस्थाई जेल भेज दिया था.

आतंकवाद को लेकर पाक पर भड़का अमेरिका, दी ये चेतावनी

इसके अलावा यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह समेत अन्य के खिलाफ मंगलवार को धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई थी. आरोप है कि कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए एक हजार बस उपलब्ध कराने की बात कही गई थी. शासन ने अनुमति देते हुए उनसे बसों का ब्यौरा मांगा था. आरोपितों ने बस की सूची में हेराफेरी कर उसे स्थानीय प्रशासन को सौंपा था.

नेपाल द्वारा नक़्शे में बदलाव किए जाने पर भड़का भारत, कड़े शब्दों में दी नसीहत

अयोध्या: खुदाई में मूर्तियां निकलने पर बोले संजय राउत- 'ये समय राम मंदिर निर्माण का नहीं '

अमेरिका-ईरान की तनातनी में कूदा वेनेज़ुएला, दे डाली US को धमकी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -