अदिति सिंह ने स्वंय की कांग्रेस पार्टी से पूछा यह सवाल

कोरोना और लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा के बस मुहैया कराने के प्रस्ताव से शुरू हुई सियासत में अब रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह भी कूद पड़ीं हैं. अपनी पार्टी के खिलाफ बगावती तेवर पहले भी दिखा चुकीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के सदर क्षेत्र से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने कहा है कि कोरोना आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत थी. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि राजस्थान के कोटा में जब यूपी के हजारों बच्चे फंसे थे तब ये तथाकथित बसें कहां थीं. इस मुद्दे पर उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ भी की है.

भीषण हादसा: सोनीपत में एसबीआई के एटीएम में लगी आग, लोगों में मचा कोहराम

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि 'आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत, एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा और एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई.'

बिडेन को मिली बड़ी सफलता, ओरेगन से जीती राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी

अपने बयान कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने आगे कहा कि 'कोटा में जब UP के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बार्डर तक ना छोड़ पाई, तब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया. खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी.

आयुष्मान योजना की सफलता का पीएम मोदी ने खोला राज, कही यह बात

अंटार्कटिका : क्या है उच्च-ऊर्जा कणों के फव्वारे का राज ?

क्या वयस्कों के मुकाबले बच्चों में कम फैलता है कोरोना संक्रमण ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -