गोवा में फिर हो सकती है सियासी उठापटक, जानें मामला

पणजीः बीते दिनों गोवा कई दफे सियासी उठापटक का शिकार हो चुकी है। तकरीबन तीन माह पहले विपक्षी कांग्रेस में भारी फूट हुई थी। कांग्रेस के 15 में से दस विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया था। अब फिर राज्य के मुखिया प्रमोद सांवत के एक बयान से राज्य में सियासी माहौल गरमा गया है। उन्होंने कहा कि इस संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता कि कुछ और विपक्षी नेता उनके खेमे में आ सकते हैं। कांग्रेस विधायक अलेक्सिओ रेजीनाल्डो लोरेंको के यहां आयोजित 50वें जन्मदिन पर शामिल होने आए गोवा सरकार के बंदरगाह मंत्री माइकल लोबो ने दावा किया कि लोरेंको को निकट भविष्य में राज्य का उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।

हालांकि उन्होंने इसके आगे जानकारी देे से इंकार कर दिया। मालूम हो कि सीएम सावंत ने इस बात की संभावना से इंकार नहीं किया कि लोरेंको भाजपा में शामिल हो सकते हैं। लोबो के दावे पर पूछे गए सवाल पर सावंत ने कहा कि राजनीति में सब कुछ संभव है। आप को कभी पता नहीं चल पाता। मैंने कहा सबकुछ संभव है। लोरेंको से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस छोडने की उनकी कोई मंशा नहीं है। गोवा की 40 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस के अब पांच और भाजपा के 27 सदस्य हैं। शेष सीटों पर निर्दलीय, राकांपा, गोवा फारवर्ड पार्टी और महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी का कब्जा है। विधानसभा चुनाव मे कम सीटें होने के बावजूद बी बीजेपी राज्य में सत्ता में आने में सफल रही। 

उद्धव ठाकरे का दावा, कहा - बाला साहेब को दिया वचन निभाउंगा, शिवसैनिक को CM बनाऊंगा

हरियाणा चुनावः जेजेपी का अशोक तंवर को खुला निमंत्रण, बोले - पार्टी में स्वागत

हरियाणा फतह के लिए भाजपा ने कसी कमर, मोदी-शाह करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -