'सनातन धर्म को रोकना है, तो मोदी को हराना जरूरी..', खड़गे ने बताया 'कांग्रेस' का मुख्य मिशन !

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए जारी चुनावी गहमागहमी के बीच इस पद के मुख्य दावेदार मल्लिकार्जुन खड़गे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमे वे नरेंद्र मोदी को रोकने की बात कहते नज़र आ रहे हैं। राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि, यदि मोदी को नहीं रोका गया और उन्हें अधिक शक्ति मिली तो देश में सनातन धर्म और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का राज आ जाएगा। हालांकि, खड़गे का ये वीडियो कब का है, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। 

 

खड़गे का ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो से स्पष्ट जाहिर हो रहा है कि, कांग्रेस अध्यक्ष पद को संभालने के बाद उनकी रणनीति क्या रहने वाली है। उल्लेखनीय है कि, कांग्रेस पर शुरू से ही हिन्दू विरोधी और मुस्लिम तुष्टिकरण के आरोप लगते रहे हैं, जो अधिकतर सही भी पाए जाते हैं। ऐसे में खड़गे के इस बयान से स्पष्ट हो गया है कि, कांग्रेस की राजनीति, मोदी को हटाने पर इसलिए केंद्रित है, ताकि वो सनातन को रोक सके, या फिर उसे ख़त्म कर सके। 

हालांकि, कांग्रेस अमूमन मोदी सरकार पर देश बेचने, बेरोज़गारी, महंगाई के आरोप लगाती रही है, लेकिन भावी कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे इस वीडियो में जोर देकर कह रहे हैं कि, सनातन धर्म को रोकने के लिए ही मोदी को हराना जरुरी है। खड़गे के इस बयान से कांग्रेस की नियत पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। क्योंकि एक तरफ तो राहुल गांधी कांग्रेस को उसकी खोई सियासी जमीन दिलाने के लिए भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं, इस दौरान भी राहुल, एक विवादित पादरी जॉर्ज पोन्नैया से मिले थे। 

इस पादरी ने भी राहुल गांधी के सामने सनातन धर्म को नीचा दिखाते हुए कहा था कि दुनिया में जीसस ही असली ईश्वर हैं और वे हिन्दू भगवानों जैसे नहीं हैं। इस पर राहुल गांधी खामोश होकर सब सुन रहे थे। उस वक़्त भी लोगों ने पुछा था कि, क्या राहुल गांधी, सनातन धर्म को हटाकर भारत को जोड़ना चाहते हैं, जैसा कि आतंकियों का भी मिशन है। इससे पहले कांग्रेस, हिन्दुओं की आस्था को कुचलते हुए सुप्रीम कोर्ट में श्री राम के अस्तित्व को ही नकार दिया था और अब खड़गे ने साफ़ कर दिया है कि उनका और पार्टी का मोदी को हराने के पीछे मकसद सनातन को रोकना ही है। हालांकि, जिन हिन्दुओं के वोटों से कांग्रेस सदियों तक भारत पर राज करती रही है, उस धर्म से इतनी घृणा क्यों रखती है ? क्या कांग्रेस किसी भी दूसरे धर्म के साथ ये सब कर सकती है ? ये पूरे देशवासियों के सामने एक बड़ा प्रश्न है। 

कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में सबसे आगे हैं मल्लिकार्जुन खड़गे, लेकिन उन्हें भी देनी होगी 'क़ुर्बानी'

सोनिया गांधी को पूरे तामझाम के साथ 'जादूगरी' दिखाने गए थे गहलोत, आखिर कैसे बिगड़ा गेम ?

रामबाई के बिगड़े बोल, सबके सामने कलेक्टर से बोली- 'आंखें फूट गई है क्या?'

 


 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -