Video: समोसों को लेकर आपस में लड़ पड़े कांग्रेस नेता, एक-दूसरे को देने लगे गन्दी-गन्दी गालियां

नई दिल्ली: विविधताओं से भरे हमारे देश भारत में वैसे तो हर जगह की अपनी अलग खासियत है और अपना खानपान है, मगर उत्तर भारत में समोसा अपनी एक अलग ही पहचान रखता है। यहां अक्सर मजाक में ये बात कही जाती है कि अगर समोसे न मिले तो युद्ध हो जाए। अब यह मजाक उत्तर प्रदेश में हकीकत बन गया है। दरअसल, प्रयागराज में कांग्रेस के नेता सचमुच में समोसे को लेकर आपस में ही लड़ पड़े।

 

यह मामला गत 6 अक्टूबर 2021 का है, जब कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता, पार्टी महासचिव प्रियंका गाधी की गिरफ्तारी और लखीमपुर हिंसा का विरोध कर रहे थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ट्रैफिक बाधित कर रखा था, जिसके बाद पुलिस ने सभी को हिरासत में लिया और उन्हें पुलिस लाइन ले गई। थाने में प्रयागराज के कांग्रेस सचिव इरशाद उल्लाह पार्टी कार्यकर्ताओं को खिलाने के लिए समोसे लाए थे। इसी दौरान उन्होंने देखा कि पार्टी के जिला प्रवक्ता हसीब अहमद ने तीन समोसे ले लिए, जिससे वह भड़क गए। दोनों के बीच बात इतनी ज्यादा बढ़ गई कि दोनों एक-दूसरे को माँ-बहन की गन्दी-गन्दी गालियाँ देने लगे। इस घटना का वीडियो News24 ने ट्विटर पर साझा किया है।

कांग्रेस के महासचिव नफीस अनवर ने स्थिति को शांत करने का प्रयास किया और नेताओं को चेतावनी दी है कि वे घर पर नहीं हैं। इसके बाद भी वो नहीं रुके और लड़ते रहे। इसके बाद पुलिस ने बीच-बचाव कर मामले को ठंडा कराया। इस मामले में पुलिस अधीक्षक सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ता सड़क पर विरोध कर रहे थे, जिसके चलते पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया था। जब वे पुलिस लाइन में थे तो उनमें से कुछ ने किसी बात को लेकर हाथापाई शुरू कर दी। इनके खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है। हद तो ये है कि खुद कांग्रेस पार्टी ने भी समोसे को लेकर लड़ने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं का समर्थन कर दिया है। 

इटली के नए ध्वजवाहक ITA ने परिचालन किया शुरू

Video: 'थोड़ी-थोड़ी पीकर सो जाया करो..', महिला बाल विकास मंत्री की महिलाओं को सलाह

'मोदी सरकार के उकसावे पर हुई हत्या..', सिंघु बॉर्डर के बर्बर हत्याकांड पर बोले राकेश टिकैत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -