चीनी एप बैन करने के फैसले पर विपक्ष ने उठाए सवाल, कहा- अलीबाबा पर शिकंजा क्यों नहीं?

Jun 30 2020 10:40 AM
चीनी एप बैन करने के फैसले पर विपक्ष ने उठाए सवाल, कहा- अलीबाबा पर शिकंजा क्यों नहीं?

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच जारी गतिरोध का बड़ा असर अब दिखाई पड़ रहा है. सोमवार को भारत सरकार ने देश में चल रहे 59 चीनी मोबाइल ऐप पर पाबंदी लगा दी है, भारत के युवाओं में इन ऐप का क्रेज था और डिजिटल मार्केट पर बड़ा कब्जा था. इस बीच इसको लेकर अब कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी, झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन सहित विपक्ष के कई ऐसे नेता हैं, जिन्होंने इस ऐप की टाइमिंग और चिन्हित ऐप पर सवाल उठाए हैं.

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि रविशंकर प्रसाद जी, क्या आपने चीनी ऐप बैन पर पूरा विचार किया? ऐसे में दो सवाल हैं कि जो लोग VPN से बैन ऐप का उपयोग कर रहे हैं, उनका क्या? और दूसरा लाखों फोन में जो ऐप अभी भी हैं, उनका क्या? क्या वो किसी तरह का खतरा नहीं हैं? कांग्रेस नेता ने कहा कि ये प्रतीकात्मक बैन अधिक है.

इसके अलावा मनीष तिवारी ने लिखा है कि चीनी ऐप को प्रतिबंधीत करने का फैसला तो सही है, किन्तु पीएम केअर्स ने भी तो चीनी कंपनियों से पैसा लिया है, उनका क्या? क्योंकि चीन की प्रत्येक ऐप में उसका खुफिया तंत्र का हाथ होता है. साथ ही कांग्रेस सांसद ने पूछा कि अलीबाबा इस सूची में क्यों नहीं है, क्या इसलिए क्योंकि आपका पेटीएम से कनेक्शन है? क्या आप ये कहना चाह रहे हैं कि दूसरी चीनी ऐप किसी तरह का खतरा नहीं हैं.

 

आज सम्पूर्ण देश को संबोधित करेंगे पीएम

इस दिन हुई थी सबसे बड़ी एस्‍टेरॉयड टकराने की घटना

स्टुअर्ट ब्रॉड का बड़ा बयान- 'स्टोक्स के पास क्रिकेट की बेहतर समझ...'