ईसाई समुदाय से कांग्रेस को मांगनी पड़ी माफ़ी, आखिर क्या कर दिया था ऐसा ?

ईसाई समुदाय से कांग्रेस को मांगनी पड़ी माफ़ी, आखिर क्या कर दिया था ऐसा ?
Share:

कोच्ची: कांग्रेस पार्टी की केरल इकाई द्वारा सोशल मीडिया पर एक मजाक उड़ने वाली पोस्ट डाली गई थी, जिसमें इटली में जी-7 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पोप फ्रांसिस के बीच हुई बैठक का मजाक उड़ाया गया, जिससे ईसाई समुदाय में नाराजगी फैल गई थी। इस पोस्ट को व्यापक विरोध के बाद अब हटा दिया गया है, जिसमें प्रधानमंत्री मोदी की पोप के साथ एक तस्वीर थी और कांग्रेस ने लिखा था कि, "आखिरकार, पोप को भगवान से मिलने का मौका मिल गया!"

दरअसल, यह प्रधानमंत्री मोदी के पिछले बयान का संदर्भ था, जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें ऐसा महसूस होता है कि उन्हें "भगवान ने किसी उद्देश्य के साथ भेजा है।" भाजपा ने तुरंत ही इस पोस्ट की कड़ी निंदा करते हुए कांग्रेस पर प्रधानमंत्री मोदी और पोप दोनों का अपमान करने का आरोप लगाया। केरल भाजपा अध्यक्ष के. सुरेन्द्रन ने ट्वीट किया, "@INCIndia केरल 'X' हैंडल, जो कट्टरपंथी इस्लामवादियों या शहरी नक्सलियों द्वारा चलाया जा रहा है, राष्ट्रवादी नेताओं के खिलाफ अपमानजनक और निंदनीय सामग्री पोस्ट करना जारी रखता है। अब, यह सम्मानित पोप और ईसाई समुदाय का मजाक उड़ाने तक गिर गया है।"

उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं जैसे पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे, वायनाड के सांसद राहुल गांधी और महासचिव केसी वेणुगोपाल पर निशाना साधा और सवाल किया कि क्या वे इस तरह की बातों का समर्थन करते हैं। केरल भाजपा महासचिव जॉर्ज कुरियन ने कहा कि यह पोस्ट आपत्तिजनक है और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला है, विशेषकर केरल में, जहां ईसाई धर्म तीसरा सबसे बड़ा धर्म है। भाजपा IT सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने आरोप लगाया कि कांग्रेस का अन्य धर्मों को नीचा दिखाने का इतिहास रहा है और उन्होंने कैथोलिक समुदाय से आने वालीं पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी मांगने की मांग की।

मालवीय ने एक्स पर लिखा कि, "हिंदुओं का मजाक उड़ाने और उनकी आस्था का अपमान करने के बाद, कांग्रेस में इस्लामवादी-मार्क्सवादी गठजोड़ अब ईसाइयों का अपमान करने पर उतर आया है। यह तब है, जब सबसे लंबे समय तक कांग्रेस अध्यक्ष रहीं सोनिया गांधी खुद कैथोलिक हैं। उन्हें आस्थावानों से माफी मांगनी चाहिए।" जवाब में केरल कांग्रेस ने पोप फ्रांसिस के इस कथन का हवाला दिया कि ईश्वर के बारे में मज़ाक करना कोई पाखंड नहीं है। पार्टी ने ट्वीट किया कि, "जब आप एक भी दर्शक के होठों से बुद्धिमानी भरी मुस्कान लाने में कामयाब हो जाते हैं, तो आप ईश्वर को भी मुस्कुराने पर मजबूर कर देते हैं। पोप फ्रांसिस ने यह बात शुक्रवार, 14 जून को उसी दिन कही, जिस दिन उन्होंने नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी।"

के सुरेन्द्रन और जॉर्ज कुरियन को टैग करते हुए, कांग्रेस ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि, “बेटर लक नेक्स्ट टाइम।” केरल कांग्रेस के उपाध्यक्ष वीटी बलराम ने इस पोस्ट का बचाव करते हुए कहा कि यह व्यंग्यपूर्ण है और इसका उद्देश्य पीएम मोदी के जनसंपर्क प्रयासों में "छिद्रता" को उजागर करना है। उन्होंने कहा कि, "यह खुद मोदी हैं जिन्होंने दावा किया है कि वे सामान्य इंसान नहीं हैं, बल्कि भगवान द्वारा भेजे गए हैं। यह विशेष ट्वीट व्यंग्यपूर्ण है।" दरअसल, कुछ संबोधनों में पीएम मोदी ने कहा था कि, उन्हें ऐसा महसूस होता है कि, ईश्वर ने उन्हें उद्देश्य के लिए भेजा है और ईश्वर ही उन कामों को करने की प्रेरणा और शक्ति देता है। दरअसल, ये हिन्दू परंपरा के प्राचीन मूल्य हैं, जिसमे कहा जाता है कि, हर व्यक्ति किसी न किसी उद्देश्य के साथ धरती पर आता है, उसे अपने उद्देश्य को पहचानना चाहिए, ये खुद को पहचानने पर जोर देने की बात है, जिसकी वकालत प्रख्यात धर्मगुरु स्वामी विवेकानंद भी कर चुके हैं।  

बहरहाल, बढ़ते विरोध के बीच, केरल कांग्रेस ने पोस्ट को डिलीट कर दिया और "ईसाइयों को किसी भी प्रकार का भावनात्मक या मनोवैज्ञानिक कष्ट" पहुंचाने के लिए माफी मांगी। बयान में कहा गया है कि इसका उद्देश्य किसी धर्म या धार्मिक हस्तियों का अपमान करना नहीं है। हालांकि, इसने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी समेत राजनीतिक हस्तियों को आलोचना से छूट नहीं है। केरल कांग्रेस ने कहा, "कोई भी कांग्रेस कार्यकर्ता पोप का अपमान करने के बारे में दूर-दूर तक नहीं सोच सकता, जिन्हें दुनिया भर के ईसाई भगवान के समान मानते हैं। हालांकि, कांग्रेस को नरेंद्र मोदी का मज़ाक उड़ाने में कोई हिचक नहीं है, जो खुद को भगवान बताकर इस देश के आस्थावानों का अपमान करते हैं।"

EVM पर एलन मस्क के ट्वीट से मचा घमासान, केंद्रीय मंत्री और राहुल गांधी का भी आया बयान

फर्जी वीडियो और डीपफेक पर लगेगी लगाम ! मानसून सत्र में डिजिटल इंडिया बिल ला सकती है सरकार

गौतस्कर सुफियान ने पुलिस पर की फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में पाँव में लगी गोली, हुआ गिरफ्तार

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -