असम चुनाव में कांग्रेस ने पाए अधिक वोट फिर क्यों बनी बीजेपी की सरकार?

नई दिल्ली: असम में पहली बार बीजेपी ने सरकार बना ली है. इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी को जहां 60 सीटें मिली तो वहीं उसकी सहयोगी पार्टियों में से असम गण परिषद् को 14 और बोडोलैंड पीपल फ्रंट को 12 सीटें मिली है. लेकिन चुनाव आयोग के आकंड़े बताते है कि असम में कांग्रेस को जनता ने अधिक वोट दिए है।

लेकिन गठबंधन के कारण बीजेपी असम में सरकार बनाने में सफल रही. आयोग के अनुसार, बीजेपी को 29.5 फीसदी यानि 4992185 वोट मिले तो वहीं कांग्रेस को 31 फीसदी यानि कुल 5238655 वोट मिले, लेकिन बीजेपी ने जहां 29.5 फीसदी मतदान के साथ 60 सीटें जीती तो वहीं कांग्रेस ने 31 फीसदी वोट पाकर भी 24 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई।

14 सीट पाकर असम गण परिषद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी है जबकि उसे वोट मिले हैं मात्र 8.1 फीसदी, जबकि मौलाना बदरुद्दीन अजमल की एआईयूडीएफ उससे कहीं ज्यादा 13 फीसदी वोट पाकर भी मात्र 13 सीटें ही पा सकी है।

इससे भी ज्यादा चौंकाने वाला यह है कि एआईयूडीएफ से मात्र एक सीट कम पाने वाले भाजपा के दूसरे घटक दल बोडोलैंड पीपल फ्रंट को वोट मात्र 3.9 फीसदी ही मिली हैं, लेकिन सीटें 121 मिली हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -