कांग्रेस ने सदस्यता के लिए जाति को बनाया आधार

Apr 23 2015 10:35 AM
कांग्रेस ने सदस्यता के लिए जाति को बनाया आधार
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : आम तौर पर राजनीतिक पार्टियां जातिवाद को अपने वोटबैंक और राजनीतिक समीकरणों को लेकर जाति को महत्व देती है लेकिन अब कांग्रेस खुद को नए सिरे से गढ़ने की तैयारी कर रही है। ऐसे में कांग्रेस द्वारा अपने सदस्यता अभियान के अंतर्गत सदस्य की जाति का खास ध्यान रखने का मन बना रही है। ऐसे में पार्टी अपनी जाॅइनिंग करने के आवेदन को इंटरनेट के माध्यम से भी उपलब्घ करवा रही है। फोटोग्राफ, जन्मतिथि, लिंग, कैटिगरी आदि को लेकर जानकारी मांगी गई है। 

इस दौरान आवेदन फाॅर्म कांग्रेस द्वारा तैयार की गई वेबसाईट www.inc.in पर आवेदन करने की सुविधा प्रदान की गई है। आवेदन के अंतर्गत कांग्रेस को सामान्य, अतिरिक्त पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति आदि के बारे में काॅलम दिया गया हैं। यही नहीं सदस्यता आवेदन में जाति को लेकर जानकारी मांगने और आॅल इंडिया दलित अधिकार मंच की जनरल सेक्रेटरी आशा कौताल ने कहा कि जाति के आधार पर लोगों को बांटने का एक बार फिर प्रयास किया जा रहा है। इस बार इसमें कुछ नयापन जरूर है। 

कांग्रेस मेंबरशिप के आॅनलाइ्रन एप्लिकेशन में कैटिगरी और कास्ट की जानकारी के साथ ही कुछ और नियम बताए गए हैं। हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने इस मसले पर कहा कि जाति भारत की सामाजिक सच्चाई है। जातिविहीन और बराबरीवाला समाज बनाने के लिए जाति से उपर उठना बेहद आवश्यक है। किसी पाॅलिटिकल पार्टी का सदस्य बनने के लिए किसी तरह के नियम लागू नहीं किए गए हैं मगर दल द्वारा चुनाव आयोग के पास रजिस्ट्रशन करवाना और ममोरैंडम आॅफ रूल्स देना तो पड़ते ही हैं। इसमें कुछ भी विचित्र नहीं है।